लखनऊ, जेएनएन। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के संसदीय क्षेत्र लखनऊ में अगले साल हथियारों का देश का सबसे बड़ा मेला लगने जा रहा है। लखनऊ में 5 से 8 फरवरी के बीच आयोजित होने वाले 11वें डिफेंस एक्सपो इंडिया-2020 की थीम 'भारत : उभरता हुआ रक्षा विनिर्माण केंद्र' रखा गया है। डिफेंस सेक्टर में तेजी से उभरते उत्तर प्रदेश में आयोजित होने जा रहे इस मेले में दुनियाभर के अत्याधुनिक हथियारों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। इससे पहले लखनऊ में एयरो इंडिया शो होने वाला था, लेकिन राजनीतिक विरोध के चलते इसे रद कर गया था।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि हम डिफेंस एक्सपो में दुनियाभर के रक्षा उद्योगों, प्रदर्शनी लगाने वालों, मंत्री स्तरीय प्रतिनिधिमंडलों का स्वागत करते हैं। सभी लोगों का तेजी से बड़े उत्पादन केंद्र के रूप में उभर रहे भारत में न केवल हमारे सैनिकों बल्कि दुनिया में निर्यात के लिए रक्षा उत्पादों के सह निर्माण और सह उत्पादन के लिए स्वागत करते हैं। उधर, रक्षा मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि डिफेंस एक्सपो भारतीय रक्षा उद्योग के लिए अपनी क्षमताओं को दिखाने और निर्यात की संभावना तलाशने के लिए एक बेहतरीन मौका है।

रक्षा मंत्रालय ने रविवार को एलान किया कि भारत की बड़ी रक्षा प्रदर्शनी 'द डेफएक्सपो' का आयोजन अगले साल उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में किया जाएगा। इसमें विश्व की बड़ी रक्षा सामग्री विनिर्माण कंपनियों के साथ-साथ घरेलू कंपनियां भी हिस्सा लेंगी। यह प्रदर्शनी रक्षा क्षेत्र में निवेश के लिए उत्तर प्रदेश को उभरते हुए आकर्षक ठिकाने के रूप में स्थापित करेगी। साथ ही यह रक्षा उद्योग में साझीदारी व संयुक्त उद्यमों के लिए प्लेटफॉर्म भी मुहैया कराएगी।

यह पहला मौका होगा जब लखनऊ 'द डेफएक्सपो' की मेजबानी करेगा। इसमें बड़ी संख्या में अग्र्रणी देशों के प्रतिनिधि भी शामिल होंगे। अधिकारी ने बताया कि बड़ी विदेशी व स्वदेशी कंपनियां इस प्रदर्शनी में अपने अत्याधुनिक हथियारों का प्रदर्शन करेंगी। इनकी नजर विश्व के सबसे बड़े हथियार आयातक देश के लाभदायक सैन्य बाजार पर होगी।

रक्षा मंत्रालय ने कहा, '11वीं द्विवार्षिक रक्षा प्रदर्शनी डेफएक्सपो इंडिया-2020 का आयोजन लखनऊ में अगले साल फरवरी से अप्रैल के बीच संभावित है। भारतीय रक्षा उद्योग के लिए अपनी क्षमता व निर्यात की संभावनाओं के प्रदर्शन का यह बेहतरीन मौका होगा। पिछली बार इस प्रदर्शनी का आयोजन अप्रैल 2018 में चेन्नई के नजदीक तिरुविदंतई में हुआ था।' पिछले साल उत्तर प्रदेश सरकार ने रक्षा मंत्रालय को एशिया की सबसे बड़ी एरोस्पेस प्रदर्शनी 'एरो इंडिया' की मेजबानी के लिए प्रस्ताव भेजा था। हालांकि, केंद्र बेंगलुरु से उसका स्थान नहीं बदलाना चाहता है।

रक्षा उद्योग के लिए उप्र में उपलब्ध है मजबूत आधारभूत ढांचा

उत्तर प्रदेश में रक्षा उद्योगों के लिए मजबूत आधारभूत ढांचा उपलब्ध है। यहां ङ्क्षहदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड की चार इकाइयां- लखनऊ, कानपुर, कोरवा (अमेठी) व नैनी (प्रयागराज), नौ आयुद्ध निर्माण इकाइयां व एक सार्वजनिक क्षेत्र का रक्षा उपक्रम- भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड, गाजियाबाद में स्थित है।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप