लखनऊ, जेएनएन। नयमों और निर्देशों की धज्जियां उड़ाकर दिल्ली में तब्लीगी जमात के कार्यक्रमों में शामिल होकर उत्तर प्रदेश की विभिन्न मस्जिदों में छिपे 287 विदेशियों में 211 के पासपोर्ट जब्त कर लिए गए हैं। उनके खिलाफ 34 मुकदमे दर्ज किए गए हैं। इसके अलावा जिलों में पकड़े गए अन्य जमातियों के खिलाफ भी बड़ी संख्या में मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। सिर्फ मेरठ और आसपास के जिलों में ही लगभग 450 लोगों पर मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। इन जमातियों पर महामारी अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

दिल्ली की तब्लीगी जमात में शामिल होने वालों के अलावा भी उत्तर प्रदेश के जिलों की विभिन्न मस्जिदों में बड़ी संख्या में जमाती स्थानीय कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए ठहरे हुए थे। पिछले दो दिनों में पुलिस की छापेमारी में ये सामने आये। बड़ी संख्या मेरठ व आसपास के जिले, बिजनौर, सहारनपुर, शामली, बुलंदशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर में रही जहां अब तक 2058 जमाती पकड़े जा चुके हैं।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि विदेश से आए लोगों के वीजा की निरंतर समीक्षा की जा रही है। तब्लीगी जमात में सम्मिलित अन्य लोगों को भी चिह्नित किया जा रहा है। कोरोना से बचाव हेतु जमात में सम्मिलित लोग स्वयं सूचित करें। उन्होंने आम लोगों से भी कहा है कि इनकी कोई सूचना मिलने पर पुलिस व प्रशासन या कन्ट्रोल रूम को सूचित करें।

इसी क्रम में प्रयागराज में थाईलैंड के नौ नागरिकों समेत 10 लोगों के खिलाफ शहर के करेली थाने में गुरुवार देर रात रिपोर्ट दर्ज की गई है। शरण देने के आरोप में मस्जिद के मौलाना के खिलाफ भी मुकदमा कायम किया गया है। एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने कहा है कि उनका पासपोर्ट भी जब्त किया जाएगा।

 

अब तक 7177 मुकदमे

लॉकडाउन के दौरान पुलिस लगातार निर्देशों व नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई कर रही है। धारा 188 के तहत पुलिस ने अब तक 7177 मुकदमे दर्ज किए हैं। राज्य सरकार की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत भी 72 एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की गई है। पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान 181004 वाहनों का चालान किया है और 13927 वाहनों को सीज किया गया है। अब तक साढ़े तीन करोड़ रुपये से अधिक शमन वसूला गया है।

शाहीनबाग निवासी 13 जमातियों को घर में रखने वाले पर मुकदमा

देवरिया पुलिस के अनुसार दिल्ली के शाहीनबाग निवासी तब्लीगी जमात के 13 सदस्यों को 17 मार्च से अपने घर में ठहराने वाले खुखुंदू थाना क्षेत्र के खजुरी गांव निवासी समीउल्लाह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सभी को पुलिस की निगरानी में उसी मकान में होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। ये धर्म का प्रचार करने दिल्ली से 10 मार्च को चलकर 11 मार्च को देवरिया पहुंचे थे।

लॉकडाउन के बाद डिपोर्ट होंगे इंडोनेशियाई नागरिक

प्रतिबंध के बावजूद प्रयागराज में आए इंडोनेशिया के सभी सात लोगों को वीजा नियमों का उल्लंघन करने के लिए काली सूची में भी डाला जाएगा, जिससे वे भविष्य में भारत नहीं आ सकेंगे। इंडोनेशिया के तिमुर शहर के सात शख्स दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तब्लीगी मरकज में शामिल हुए थे और फिर प्रयागराज आ गए थे। मंगलवार रात अब्दुल्ला मस्जिद से इन लोगों समेत 37 लोगों को पकड़ा था। सभी को क्वारंटाइन में रखा गया है। एडीएम सिटी अशोक कनौजिया ने बताया कि लॉकडाउन समाप्त होने पर एयरलाइंस शुरू होने पर पहली फ्लाइट से इन्हें इंडोनेशिया भेजने की तैयारी की जा रही है।

मस्जिद में नमाज आदा करने पहुंचे दो मौलानाओं पर मुकदमा

सीतापुर के रामपुर कला थाना क्षेत्र के गांव दहावा में लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में नमाज अदा करने पहुंचे दो मौलानाओं पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। दोनों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। पुलिस को देख मस्जिद में मौजूद अन्य लोग भाग गए।

कहां कितने लोगों पर मुकदमे

  • कानपुर में आठ 
  • कन्नौज में 16 
  • अमरोहा में 10 
  • महराजगंज में  21 
  • हरदोई में  14 
  • शाहजहांपुर में पांच
  • मुरादाबाद में 27
  • प्रयागराज में 10
  • मेरठ बिजनौर, सहारनपुर, शामली, बुलंदशहर, बागपत, मुजफ्फरनगर में 450

 

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस