सुलतानपुर, संवादसूत्र।  सुलतानपुर में निर्माणाधीन लखनऊ-वाराणसी फोरलेन के दियरा ओवरब्रिज के पास सोमवार की शाम बदमाशों ने कांग्रेस नेता रीता यादव को गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बदमाश असलहा लहराते हुए भाग निकले। दाहिने पैर में गोली लगने से घायल महिला नेता को सीएचसी से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है।

चांदा क्षेत्र के लालू का पूरा सोनावा गांव निवासी रीता यादव सोमवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित एक बैठक में शामिल होने के लिए आई थी। शाम करीब साढ़े छह बजे वह बोलेरो में सवार होकर घर जा रही थी। दियरा ओवरब्रिज के पास पहुंची थी कि पल्सर बाइक सवार तीन लोगों ने प्रतापपुर कमैचा निवासी चालक मुस्तकीम के ऊपर तमंचा तान दिया। चालक ने बोलेरो रोक दी। तब तक पीछे बैठे बाइक सवार ने रीता यादव पर फायर झोंक दिया और फरार हो गए। चालक किसी तरह रीता को स्थानीय सीएचसी तक ले आया। वहां से मामले की जानकारी पुलिस को दी गई। जानकारी मिलते ही सीओ सतीश चंद्र शुक्ल ने भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। उन्होंने भी पीड़ित व चालक से अलग-अलग बयान लिया। सीओ ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है, जल्द ही घटनाक्रम का अनावरण कर दिया जाएगा।

पीएम को काला झंडा दिखाकर चर्चा में आई थी रीताः रीता यादव 16 नवंबर को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने कूरेभार के अरवल कीरी करवत पहुंचे पीएम नरेन्द्र मोदी को काला झांडा दिखाकर चर्चा में आई थी। उस दौरान सुरक्षा कर्मियों ने रीता को पकड़कर भीड़ से अलग कर दिया था। सपा में खुद को उपेक्षित महसूस कर रही रीता ने पिछले दिनों अमेठी में कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा की मौजूदगी में कांग्रेस की सदस्यता हासिल कर ली थी। तब से वह जिले में सक्रिय राजनीति करने लगीं। लम्भुआ विधानसभा से वह टिकट की दावेदारी भी पेश कर रहीं है।

Edited By: Anurag Gupta