लखनऊ, जेएनएन। धार्मिक पर्यटन स्थल को लगातार बढ़ावा देने के अभियान में लगी उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने ब्रज क्षेत्र में मथुरा के बाद अब नए स्थान को तीर्थस्थल के रूप में मान्यता दे दी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने एटा के सोरों को तीर्थस्थल के रूप में मान्यता दी है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा के बाद अब एटा के सोरों को भी तीर्थस्थल के रूप में मान्यता दी है। मुख्यमंत्री ने कासगंज के सूकर क्षेत्र, सोरों को तीर्थस्थल के रूप में घोषित किया है। उनकी इस घोषणा के बाद इस क्षेत्र को शीघ्र ही तीर्थस्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके साथ ही यहां पर भी अन्य तीर्थस्थल की तरह ही तमाम तरह की पाबंदी लागू की जाएगी।

इसको लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा है कि जनभावनाओं का सम्मान करते हुए जनपद कासगंज स्थित सूकर क्षेत्र, सोरों को सरकार ने तीर्थस्थल के रूप में घोषित करने का निर्णय लिया है।

उन्होंने कहा कि कासगंज के सोरों तीर्थ की एतिहासिक धरोहरों को संरक्षित किया जा सकता है। सरकार इस क्षेत्र की एतिहासिकता को अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दिलाने का प्रयास भी होगा।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसके साथ ही वाराणसी में 11.20 किमी की लम्बाई वाले पिण्डरा-कठिराव मार्ग (मीराशाह से कठिराव मार्ग) का नाम देवमूर्ति शर्मा मार्ग करने की स्वीकृति दी है।

Edited By: Dharmendra Pandey