लखनऊ (जेएनएन)। केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने उन्नाव के बांगरमऊ से भारतीय जनता पार्टी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ तत्वरित कार्रवाई की। कुलदीप सेंगर के खिलाफ तीन एफआइआर दर्ज करने के 20 घंटे के भीतर ही सीबीआई ने आज लखनऊ में उनके आवास, सी ब्लाक इंदिरा नगर से हिरासत में लिया। लखनऊ में सीबीआई ऑफिस में करीब चार घंटे की पूछताछ के बाद अब सीबीआई विधायक को मेडिकल के लिए यहां अस्पताल ले जाने के बाद कोर्ट में पेश करेगी। इसके बाद उन्नाव भी ले जाने का कार्यक्रम है।

सीबीआई आज ही कुलदीप सेंगर को कोर्ट में पेश कर सकती है। इस मामले में अभी तक तीन केस दर्ज किए गए हैं। कुलदीप सेंगर पर नाबालिग से रेप, पीड़िता के पिता की हत्या का केस और तीसरा केस विधायक सेंगर के परिवार की तरफ से जो भी शिकायत दी गई है।

सीबीआई की टीम ने मामले को अपने हाथ में लेते ही एक्शन करना शुरू कर दिया। केंद्र ने उत्तर प्रदेश सरकार की सिफारिश मंजूर करते हुए गुरुवार की शाम इस केस की जांच केंद्रीय जांच एजेंसी से कराने का आदेश जारी किया था। इससे पहले हाई कोर्ट की फटकार के बाद पुलिस ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

सीबीआई की दिल्ली की टीम ने लखनऊ सेल को एक्टिव किया और लखनऊ की सीबीआई की टीम सी ब्लाक इंदिरा नगर में 4 बजकर 11 मिनट पर कुलदीप सिंह सेंगर के घर पहुंची। इसके बाद 4 बजकर 28 मिनट पर घर से सीबीआई दफ्तर पहुची। सेंगर को हिरासत में लेने के बाद सात लोगों की टीम सुबह 4: 45 से लगातर कुलदीप सिंह सेंगर से पूछताछ कर रही है।

सेंगर से लगातार चार घंटे तक पूछताछ के बाद सीबीआई ने मोबाइल रिकार्ड उपलब्ध कराने को कहा है। इस दौरान सीबीआई ने सेंगर से लगातार प्रश्न देकर पूछताछ की। माना जा रहा है कि अब टीम विधायक सेंगर को लेकर उन्नाव भी जाएगी।

उन्नाव में गैंगरेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को सीबीआई की टीम ने लखनऊ में इंदिरानगर आवास से सुबह करीब पांच बजे हिरासत में ले लिया। विधायक पर पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। आज सुबह 11 बजे सीबीआई आरोपी विधायक को कोर्ट में पेश कर सकती है। इसके बाद उन्नाव भी लेकर जाने का कार्यक्रम है।

सीबीआई की लखनऊ इकाई ने कल देर रात विधायक सेंगर के खिलाफ तीन केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। विधायक के खिलाफ एसआईटी के दर्ज कराए गए रेप के केस के साथ ही विधायक के भाई अतुल सिंह के पीडि़ता के पिता के साथ मारपीट और जेल में उनकी मौत का मामला शामिल है। सीबीआई एसपी राघवेंद्र वत्स ने यूपी पुलिस से संबंधित कागजात ले लिए हैं। कुलदीप सेंगर के खिलाफ सिर्फ आरोप के आधार पर रेप व पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज किया गया है। केंद्र की मंजूरी मिलने के बाद सेंगर का केस सीबीआई को ट्रांसफर किया गया है। वहां से केस ट्रांसफर का नोटिफिकेशन जारी किया गया है, जिसकी प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने पुष्टि की है। 

By Dharmendra Pandey