Move to Jagran APP

AIMIM की महिला नेता ने विधानभवन के बाहर पढ़ी नमाज, ट्विटर पर फोटो शेयर कर लिखा- देश आजाद है मुझे आजादी से...

UP News एआइएमआइएम की नेता सय्यद उज्मा परवीन ने सोमवार करीब पांच बजे विधानभवन के बाहर असर की नमाज अदा की। नमाज का वीडियो और फोटो इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित कर लिखा कि हमारा देश आजाद है मुझे आजादी से नमाज पढ़ने का अधिकार है।

By Saurabh ShuklaEdited By: MOHAMMAD AQIB KHANPublished: Tue, 28 Mar 2023 10:07 PM (IST)Updated: Tue, 28 Mar 2023 10:07 PM (IST)
AIMIM की महिला नेता ने विधानभवन के बाहर पढ़ी नमाज : जागरण

लखनऊ, जागरण संवाददाता: आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआइएमआइएम) की नेता सय्यद उज्मा परवीन ने सोमवार करीब पांच बजे विधानभवन के बाहर असर की नमाज अदा की। नमाज का वीडियो और फोटो इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित कर लिखा कि हमारा देश आजाद है मुझे आजादी से नमाज पढ़ने का अधिकार है।

मंगलवार दोपहर वीडियो और फोटो इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित होते ही राजनीति गर्मा गई। तरह-तरह की चर्चाएं होने लगीं। लोग कमेेंट करने लगे। आनन-फानन हुसैनगंज, हजरतगंज पुलिस और अधिकारी हरकत में आ गए। उन्होंने उज्मा को फोन कर संपर्क करना शुरू कर दिया। उज्मा परवीन हैदरगंज बाजारखाला इलाके में रहती हैं।

उज्मा ने दैनिक जागरण से हुई बातचीत के दौरान बताया कि वह सोमवार को हजरतगंज किसी काम से गई थीं। शाम करीब साढ़े चार से पांच बजे के बीच बजे लौट रही थीं। रायल होटल चौराहे पर ट्रैफिक का रेड सिग्नल हो गया था। असर की नमाज का वक्त था। नमाज अदा कर उन्हें रोजा खोलना था। नमाज समय से अगर न होती तो उनका रोजा खराब हो जाता। इसलिए उन्हें नमाज विधानसभा के बाहर और बाबूभवन के पास चबूतरे पर पढ़नी पढ़ी। उन्होंने कोई गुनाह नहीं किया है।

एनआरसी-सीएए के विरोध प्रदर्शन में दर्ज है कई मुकदमें

बता दें, एनआरसी, सीएए को लेकर हुए विरोध प्रदर्शन में उज्मा के खिलाफ लखनऊ, वाराणसी और दिल्ली शाहीनबाग मामले में करीब 35-40 मुकदमे दर्ज हैं। वहीं, बीते साल जुलाई माह में उज्मा ने हजरतगंज कोतवाली में कुछ लोगों के खिलाफ जानलेवा हमले का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था।

अग्रिम कार्रवाई तथ्यों के आधार पर होगी

हजरतगंज मल्टीलेवल पार्किंग एरिया में फायरिंग होने का आरोप लगाया था। उज्मा वर्ष 2022 में लखनऊ की पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से एआइएमआइएम की प्रत्याशी घोषित हुई थीं। हालांकि कुछ कारणों से उनका नामांकन रद्द हो गया था। इंस्पेक्टर हुसैनगंज जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित फोटो और वीडियो मिला है। जांच की जा रही है, जो भी तथ्य सामने आएंगे उसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इंटरनेट मीडिया पर लिखा

अलहमदुलिल्ला लखनऊ विधानभवन के सामने असर की नमाज अदा की जो यह कहते हैं हमारी नमाज पर पाबंदी लगा देंगे तो हम भी अपने हिंदुस्तान की हर सरजमीन पर नमाज पढ़कर दिखा देंगे। हमारा देश आजाद है इसीलिए मुझे आजादी से नमाज पढ़ने का अधिकार है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.