लखनऊ, जागरण संवाददाता। इटौंजा में कुम्हरावां रोड पर गद्दीपुरवा गांव के पास सोमवार सुबह तेज रफ्तार ट्रक की टक्कर से ट्रैक्टर ट्राली तालाब में जा गिरी। हादसे में ट्रैक्टर ट्राली सवार 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि 35 अन्य लोग घायल हो गए। पुलिस और एसडीआरएफ (राज्य आपदा मोचन बल) के गोताखोरों ने राहत व बचाव कार्य शुरू किया। इसके बाद क्रेन की मदद से ट्रैक्टर ट्राली को तालाब से बाहर निकाला गया।

एसडीआरएफ ने तालाब से लोगों को निकाल कर अस्पताल भेजा, जहां दो बालिकाओं समेत 10 लोगों को मृत घोषित कर दिया गया। एक व्यक्ति की हालत गंभीर है, जिसे केजीएमयू ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है।

वहीं अन्य का सीएचसी में इलाज चल रहा है। मरने वाले लोग इटौंजा इलाके के टिकौली गांव के रहने वाले थे। सभी आपस में रिश्तेदार बताए जा रहे हैं। ट्रैक्टर ट्राली पर सवार होकर सभी लोग उनाई गांव स्थित एक प्राचीन मंदिर में पूजन के लिए जा रहे थे। इसी दौरान ये हादसा हुआ। मुख्यमंत्री ने घटना पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के परिवार जन को चार-चार लाख रुपये सहायता राशि देने की घोषणा की है। हादसे के बाद मौके पर आईजी लखनऊ लक्ष्मी सिंह, जिलाधिकारी सूर्यपाल गंगवार और बड़ी संख्या में पुलिस बल पहुँच गई।

मुंडन संस्कार के लिए देवी मंदिर जा रहे थे ट्रैक्टर सवार ग्रामीण : अटरिया के टिकौली गांव में रहने वाले ग्रामीण संदीप के बेटे का मंडन संस्कार उनई गांव में देवी मंदिर पर होना था। संदीप रिश्तेदारों, पारिवारिक सदस्यों और गांव के लोगों के साथ ट्रैक्टर से मंदिर जा रहे थे। इस बीच कुम्हारावां रोड पर गद्दीनपुरवा गांव में हादसा हो गया।

एसडीआरएफ और एनडीआरएफ रेस्क्यू में लगी : हादसे में तालाब में गिरे लोगों को निकालने के लिए एसडीआरएफ (राज्य आपदा मोचन बल), एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा मोचन बल) के गोताखोरों का विशेष दस्ता लगाया गया है। हादसे में कुछ लोगों का अभी पता नहीं चल सका है। जिनकी टीमें खोजबीन कर रही हैं।

इनकी हुई मौत

रुचि मौर्या, सुखरानी, सुषमा मौर्या, कोमल, केतकी देवी, अन्नपूर्णा, मालती, बिट्टू, अंशिका और सुनीता। 

यह भी पढ़ें: यातायात, पुलिस तथा परिवहन विभाग मौन: लखनऊ में आज दुर्घटना के बाद भी ट्रैक्टर पर सवारी करते मिले लोग

Edited By: Vikas Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट