लखनऊ। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह आज किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) के दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथि होंगे। गृह मंत्री आज अपने संसदीय क्षेत्र लखनऊ में होने वाले इस समारोह में शिरकत करने दिन में एक बजे पहुंचेंगे।

किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के दसवें दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता कुलाधिपति के रूप में राज्यपाल राम नाईक करेंगे। दोपहर 2 बजकर 30 मिनट पर शुरू होने वाले समारोह में राज्यपाल मेधावी छात्र-छात्रओं को सम्मानित करेंगे। साथ ही उन्हें डिग्री वितरित करेंगे। केजीएमयू के कुलपति प्रो. रविकांत ने बताया कि चिकित्सा विश्वविद्यालय के सर्वाधिक प्रतिष्ठित चांसलर, हीवेट व यूनीवर्सिटी ऑनर्स अवार्ड इस बार एक ही छात्र पुलकित रंगढ़ की झोली में आए हैं। पुलकित ने तीन पुरस्कारों सहित कुल 17 मेडल पर कब्जा जमाया है जिसमें से आठ स्वर्ण पदक शामिल हैं। इसके अलावा बीडीएस की दो छात्रओं साक्षी शर्मा व शिखा गौतम को भी दीक्षांत समारोह में सम्मानित किया जाएगा। साक्षी को दो स्वर्ण पदक व एक रजत पदक दिया जाएगा जबकि शिखा गौतम के हिस्से में छह स्वर्ण, दो रजत पदक के अलावा बुक प्राइज से नवाजा जाएगा। इसके अलावा नर्सिग के लिए इंदु यादव को महाराजा बलरामपुर गोल्ड मेडल से सम्मानित किया जाएगा। इसी कड़ी में 21 दिसंबर को आयोजित स्थापना दिवस समारोह में 96 छात्र-छात्रओं को पदक दिए जाएंगे।

दीक्षांत समारोह में ही मिलेंगी डिग्री

प्रो. रविकांत ने बताया छात्र-छात्रओं की इच्छा होती है कि उन्हें दीक्षांत समारोह में डिग्री दी जाए। 600 छात्र-छात्राओं को डिग्री दी जानी है इसलिए इतनी बड़ी संख्या में कुलाधिपति के हाथों डिग्री दिया जाना संभव नहीं है। कुछ छात्र-छात्राओं को पदक व डिग्री राज्यपाल देंगे जबकि शेष छात्र-छात्रओं को डीन मेडिसिन डॉ. राज मेहरोत्र व डीन डेंटल डॉ. एपी टिक्कू डिग्री देंगे।

दी जाएगी मानद उपाधि

दीक्षांत के मौके पर यूनीवर्सिटी ऑफ लंदन के प्रो. स्टीफन जी. ब्राउन व अमेरिका के मेमोरियल स्लोन-कैटरिंग कैंसर सेंटर के प्रो. जतिन पी. शाह को मानद उपाधि से सम्मानित किया जाएगा। प्रो. ब्राउन लेजर मेडिसिन व सर्जरी के विशेषज्ञ हैं जबकि प्रो. शाह सिर व गले के कैंसर के जाने-माने सर्जन हैं। इस मौके पर ड्यूक यूनीवर्सिटी मेडिकल सेंटर के कुलपति प्रो. रॉबर्ट एम केलिफ विशिष्ट अतिथि होंगे।

खास होगा दीक्षांत समारोह

डीन मेडिसिन डॉ. राज मेहरोत्र ने बताया कि दीक्षांत समारोह को खास बनाने के लिए इसका सजीव प्रसारण किया जाएगा। केवल दीक्षांत ही नहीं, 21 दिसंबर को होने वाले स्थापना दिवस समारोह व विशिष्ट व्याख्यान का भी सीधा प्रसारण किया जा रहा है। इससे दुनिया भर में मौजूद जार्जियन दीक्षांत से जुड़ सकेंगे।

Edited By: Dharmendra Pandey