लखीमपुर : रेल संरक्षा आयुक्त 23 दिसंबर को स्पेशल ट्रेन से सीतापुर से लखीमपुर रवाना होंगे। वह सीतापुर से लखनऊ के बीच इलेक्ट्रिक ट्रेन के लिए बनाई गई सुविधाएं भी देखेंगे। रेल विकास निगम के जगन्नाथ मिश्र ने बताया कि इलेक्ट्रिक लाइन की जांच के बाद उनकी स्पेशल ट्रेन इलेक्ट्रिक इंजन से सीतापुर तक दौड़ाकर स्पीड ट्रायल किया जाएगा। आयुक्त के निरीक्षण में सब कुछ सही मिला तो उनकी क्लीयरेंस मिलते ही रूट पर इलेक्ट्रिक इंजन से ट्रेनों का संचालन शुरू हो जाएगा। पूर्वोत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल प्रशासन लखनऊ से लखीमपुर तक मेमू चलाने का प्रस्ताव भी रेलवे बोर्ड भेज सकता है। रेल विकास निगम के प्रबंधक व सेक्शन प्रभारी जगन्नाथ मिश्र ने बताया कि इसी सन्दर्भ में शनिवार को सीतापुर लखीमपुर रेल विद्युतीकरण कार्य का पूर्वोत्तर रेलवे के शाखा अधिकारियों द्वारा टावर वैगन कार से निरीक्षण किया गया। निरीक्षण टावर वैगन से 11.30 बजे सीतापुर रेलवे स्टेशन से शुरू किया गया। जिसके बाद झरेकापुर स्विचिग पोस्ट व उससे सटे हुए गेट नम्बर -86 का का गहनता से निरीक्षण किया।

दोपहर एक बजे हरगांव स्टेशन पहुंच कर स्टेशन के पैदल पथ पुल एवं स्टेशन बिल्डिग, प्रवेश द्वार का निरीक्षण कर स्टेशन मास्टर से 25 हजार वोल्ट विद्युतीकृत सेक्शन में कार्य करने के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में पूछताछ की गई। ओयल हाल्ट के गेट व स्विचिग पोस्ट का निरीक्षण किया गया। करीब तीन बजे लखमीपुर रेलवे स्टेशन पहुंच कर रोड ओवर ब्रिज का निरीक्षण किया व नपाई कर स्टेशन का सघनता से निरीक्षण किया गया, जिसमे स्टेशन मास्टर कक्ष में लगे सभी उपकरणों, सुरक्षा मानकों के बारे में ड्यूटी पर उपस्थित स्टेशन मास्टर से पूछताछ की गई व सभी रजिस्टर्स व रिकार्ड चेक किये गए व आगामी रेल संरक्षा आयुक्त निरीक्षण की समस्त तैयारियों का जायजा लिया गया । निरीक्षण के दौरान लखनऊ मंडल से आये शाखाधिकारियों में धमेंद्र यादव वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर (टीआरडी), धनंजय मिश्रा वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजीनियर (सामान्य), मानसी मित्तल वरिष्ठ मंडल इंजीनियर, एपी सिंह वरिष्ठ मंडल सुरक्षा अधिकारी, संजोग श्रीवास्तव सहायक मंडल इंजीनियर, सुभाष त्रिपाठी, अभयकांत झा, आशीष सिंह मौजूद रहे।

Edited By: Jagran