Move to Jagran APP

जीत के जश्न में डूबे थे सपा कार्यकर्ता, फिर जानबूझकर कर दी यह हरकत- पुलिस ने लाठियां मार कर भगाया

मतगणना के दौरान शुरू से दोनों सीटों पर सपा प्रत्याशी आगे चल रहे थे। कार्यकर्ताओं में जीत का जोश पहले और दूसरे राउंड से ही भरने लगा था। मंडी गेट पर सुबह से ही सपाई जुटने लगे। वाट्स अप ग्रुपों से उन्हें पल पल की खबर मिल रही थी। शाम करीब पांच बजे जब दोनों सीटों पर प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित हो गई तो कार्यकर्ताओं की भीड़ बेकाबू हो गई।

By punesh verma Edited By: Mohammed Ammar Thu, 06 Jun 2024 10:28 PM (IST)
जीत के जश्न में डूबे थे सपा कार्यकर्ता, फिर जानबूझकर कर दी यह हरकत-

संवादसूत्र, जागरण लखीमपुर: मतगणना स्थल राजापुर मंडी मंगलवार को लाल-हरे रंग के झंडे से पट गई। मंडी गेट पर सपा कार्यकर्ताओं का उत्साह देखते ही बन रहा था। गुलाल उड़ाते कार्यकर्ता सपा के समर्थन में जमकर नारेबाजी लगा रहे थे। कार्यकर्ताओं के अंदर अपने नए नवेले सांसद से मिलने की बेताबी दिख रही थी। राजापुर मंडी गेट पर कार्यकर्ता अंदर जाने के लिए बेकाबू हो गए। पुलिस पर पानी की बोतलें फेकी, जिसके जवाब में भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी।

मतगणना के दौरान शुरू से दोनों सीटों पर सपा प्रत्याशी आगे चल रहे थे। कार्यकर्ताओं में जीत का जोश पहले और दूसरे राउंड से ही भरने लगा था। राजापुर मंडी गेट पर सुबह से ही सपाई जुटने लगे। वाट्स अप ग्रुपों से उन्हें पल पल की खबर मिल रही थी। शाम करीब पांच बजे जब दोनों सीटों पर प्रत्याशियों की जीत सुनिश्चित हो गई तो कार्यकर्ताओं की भीड़ बेकाबू हो गई।

पुलिस पर फेंकी बोतल

मंडी गेट पर कार्यकर्ताओं की भीड़ मतगणना स्थल पर जाने के लिए बेकाबू हो गई। कार्यकर्ताओं को रोक रही पुलिस को उनके गुस्से का सामना करना पड़ा। कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर बोतलें फेंकनी शुरू कर दीं। इससे नाराज पुलिस ने कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए लाठियां भांजनी शुरू कर दी।

हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ मंडी गेट से लेकर राजापुर चौराहे इधर डान बास्को तक लगी रही। जीत का प्रमाण पत्र ले चुके धौरहरा सीट से सपा प्रत्याशी आनंद भदौरिया अपनी गाड़ी में बैठे और सीधे विलोबी हाल के सामने आंबेडकर मूर्ति पर माल्यार्पण के बाद सीतापुर रवाना हो गए। वहीं खीरी प्रत्याशी उत्कर्ष वर्मा को प्रशासन ने पुलिस जीप में बैठाया और जलसा गेस्ट हाउस ले जाकर छोड़ा। गेस्ट हाउस में नए-नवेले सांसद से मिलने के लिए हजारों कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ पड़ी।