कौशांबी। अयोध्या से चित्रकूट धाम को सीधा मार्ग से जोड़ने वाले सिराथू तहसील के शहजादपुर में गंगा घाट पर बन रहे ढाई अरब की लागत के पुल का निरीक्षण शनिवार को डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने किया। साथ ही 15 दिसंबर तक पुल निर्माण पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए। जबकि शासन ने इसके पूर्ण होने की अवधि का लक्ष्य मार्च 2022 रखा है लेकिन सरकार विधान सभा 2022 चुनाव के पहले इस परियोजना को पूर्ण कर जनता के लिए लोकार्पण करना चाहती है। बहरहाल निर्माण पूरा हुआ तो जिले में व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही अयोध्या से चित्रकूट का सफर भी आसान हो जाएगा।

शहजादपुर के करेंटी घाट पर पुल बनाने की मांग क्षेत्र के लोग काफी समय से कर रहे थे, जिसको संज्ञान में लेकर सांसद विनोद सोनकर के प्रयास से अगस्त क्रांति महोत्सव के समय शहजादपुर में जन्मी क्रांतिकारी दुर्गाभाभी व सैनिक सम्मान समारोह कार्यक्रम के अंतर्गत 9 अगस्त 2019 को सूबे के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने सेतु की आधारशिला रखी थी। 1272 मीटर लंबे बनने वाले अतिरिक्त भार पुल के लिए शासन ने दो अरब 48 करोड़ 89 लाख का बजट जारी किया था। जिसे बनाने के लिए शासन ने उत्तर प्रदेश सेतु निगम प्रयागराज इकाई को जिम्मा सौंपा था। दो साल से बन रहे इस पुल का निर्माण लगभग 95 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष कार्य दिसंबर तक पूर्ण हो जाने की बात कही जा रही है। इस समय गंगा में बाढ़ आने से पुल निर्माण कार्य मे समस्या आ रही। जिस कारण पुल में जो थोड़ा काम बचा हुआ है वह काफी कठिन है, जिसे पूर्ण करने का प्रयास किया जा रहा है। 13 पिलर पर बनने वाला यह पुल बेहद खूबसूरत अंदाज में बनाया जा रहा है, जो प्रयागराज के नैनी ब्रिज की तरह आकर्षक होगा। पुल में सेल्फी प्वाइंट भी बनेगा। जिससे लोग पुल व गंगा नदी के साथ अपनी बेहतरीन सेल्फी ले सकेंगे। अयोध्या से चित्रकूट के लिए हो जाएगा सीधा मार्ग

इस पुल के बन जाने से रामनगरी से कामतानाथ स्वामी तक आने-जाने वालों के लिए सीधा रास्ता हो जाएगा। श्रद्धालुओं को दर्शन करने का रास्ता सुलभ एवं सुगम होगा तथा उन्हें कम दूरी का प्रयोग करना होगा । इतना ही नहीं, शहजादपुर सेतु बन जाने से कौशांबी में व्यापारिक केंद्र को बढ़ावा मिलेगा। यहां के व्यापारियों को कुंडा, प्रतापगढ़, फैजाबाद, लखनऊ आने जाने के लिए सुलभ हो जाएगा। जिससे व्यापारियों को आने-जाने में समय बचेगा तथा सामान लाने की सहूलियत होगी। दोआबा वासियों को राजधानी का सफर करना होगा मुफीद

दोआबा वासियों के लिए इस पुल के बन जाने से राजधानी पहुंचना आसान हो जाएगा। जिसके लिए उन्हें कम दूरी चलनी पड़ेगी, जिससे उन्हें समय व आर्थिक दोनों का फायदा होगा।

Edited By: Jagran