कानपुर देहात, जागरण संवाददाता। कानपुर इटावा हाईवे पर मुंगीसापुर के बिहार घाट के पास अचानक पहिया बस्र्ट होने स्कूली बच्चों को ले जा रही वैन पलट गई। हादसे में 10 बच्चों में सात गंभीर घायल हो गए। जिला अस्पताल से एक बच्चे को गंभीर हालत में कानपुर रेफर किया गया। डीएम, एसपी व सीएमओ जिला अस्पताल पहुंचे और बच्चों के सही इलाज के निर्देश दिए।

मुंगीसापुर के पास बाढ़ापुर के पीडी निगम इंटरनेशनल स्कूल में बुधवार दोपहर छुट्टी हुई तो केजी व यूकेजी के 10 बच्चों को रोजाना की तहर वैन में बिठाकर चालक डेरापुर जा रहा था। बिहार घाट के पास एक टायर अचानक फट गया और अनियंत्रित वैन पलट गई। वैन में फंसे बच्चों में चीखपुकार मच गई और आसपास के लोग दौड़ पड़े। हादसे में वैन सवार डेरापुर निवासी छह वर्षीय हर्ष तिवारी, विष्णु, सात वर्षीय प्रियल, हिमांशु, इच्छा, गणेश, आठ वर्षीय उमंग घायल हो गए।

राहगीरों ने बच्चों को वैन से बाहर निकाला और पुलिस ने जिला अस्पताल पहुंचाया। हादसे की जानकारी होते ही अभिभावक भी बदहवास हालत में घटनास्थल पर पहुंचे और बच्चों को देखकर रोने लगे। जिला अस्पताल में घायल हर्ष के सिर पर गंभीर चोट देखकर डॉक्टर ने कानपुर रेफर कर दिया। दुर्घटना की जानकारी मिलते ही डीएम नेहा जैन, एसपी सुनीति, सीएमओ डा. एके सिंह व प्रभारी सीएमएस डा. मनाेज निगम अस्पताल पहुंचे और बेहतर इलाज के निर्देश दिए। बच्चों व उनके अभिभावकों से भी बातचीत करके शांत कराया। थाना प्रभारी डेरापुर उमाशंकर यादव ने बताया कि टायर फटने से वैन पलटी है, हाईवे के कर्मियों ने उसे हटाकर यातायात बहाल किया । जिला अस्पताल के डा. श्रीप्रकाश ने बताया कि बच्चों को प्राथमिक उपचार करने के बाद हालत सामान्य होने पर अभिभावक घर ले गए।

बिना सुरक्षा संचालित हो रही थी वैन

जिस वैन से बच्चे जा रहे थे, उसमें सुरक्षा मानक कुछ भी नहीं थे। सुरक्षा जाली नहीं लगी थी और न ही पीली पट्टी थी और अग्निशमन यंत्र भी नहीं था। चालक व स्कूल का मोबाइल नंबर भी नहीं अंकित था। बिना नियम पालन वैन से स्कूली बच्चों को घर से स्कूल लाया ले जाया जा रहा था।  

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट