फतेहपुर, जेएनएन। लखनऊ नारकोटिक्स व पुलिस की संयुक्त टीम ने लॉकडाउन के दौरान शुक्रवार सुबह कानपुर-प्रयागराज हाईवे में थरियांव पश्चिमी तिराहे पर चेकिंग के दौरान खाली ट्रक को पकड़ा। हत्थे चढ़े ट्रक मालिक व चालक सेे पूछताछ के बाद इनकी निशानदेही पर पुलिस ने स्टेपनी के दो टायरों को खुलवाकर पॉलीथीन के थैलों में भरी 1 क्विंटल 23 किलो 882 ग्राम अफीम बरामद की। इसकी कीमत एक करोड़ रुपये से अधिक बताई जा रहा है। 

मुखबिर की सूचना पर नारकोटिक्स टीम ने पकड़ा

लखनऊ नारकोटिक्स टीम प्रभारी आरके शाह व एसओ विनोद कुमार गौतम की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर सुबह झारखंड से हरियाणा जा रहे खाली ट्रक को रोका, जिसमें ट्रक मालिक अबोध कुमार, चालक संजर अली व खलासी अर्जुन कुमार निवासी हजारीबाग झारखंड सवार थे। पुलिस ने तीनों से सख्ती से पूछताछ की तो उन्होंने स्टेपनी के दो टायरों में अफीम होने की जानकारी दी। पुलिस ने टायरों को खुलवा कर अफीम बरामद की। एसओ विनोद कुमार गौतम ने बताया कि बरामद एक क्विंटल 23 किलो अफीम की कीमत एक करोड़ रुपये से अधिक है, जिसे जब्त कर तस्करों से पूछताछ की जा रही है। हत्थे चढ़े तस्कर झारखंड से हरियाणा जा रहे थे। सभी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। 

चौथी बार पकड़ी गई अफीम 

लखनऊ नारकोटिक्स टीम व थरियांव पुलिस की संयुक्त टीम ने दो माह के अंतराल में चौथी बार प्रयागराज-कानपुर हाईवे से ट्रक से भारी मात्रा में करोड़ों रुपये की अफीम पकड़ी है। इसके पूर्व लॉकडाउन के दौरान ही दो बार हसवा पुलिस चौकी के समीप से 60-60 किलो अफीम पकड़ी गई थी। उससे पहले 50 किलो अफीम पकड़ी गई थी और अब करीब सवा क्विंटल अफीम पकड़ी गई। पुलिस ने झारखंड प्रांत के मुख्य तस्कर मनोज डांगी को पकड़कर ट्रक की चेचिस से अफीम बरामद कर कई तस्करों को जेल भेजा था। 

Posted By: Abhishek Agnihotri

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस