कानपुर, जेएनएन। बर्रा के दामोदर नगर में रहने वाले एयर फोर्स के रिटायर्ड जूनियर वारंट अफसर अखिलेश कुमार तिवारी की 29 वर्षीय बेटी सुमन तिवारी की सड़क हादसे में मौत हो गई। बाबूपुरवा थाना क्षेत्र के आनंदपुरी गेट के पास पीछे से आ रही रोडवेज बस ने उन्हें कुचल दिया। अगले महीने एक मार्च को सुमन की शादी थी। घटना से दोनों परिवारों में कोहराम मच गया।

एक मार्च को होनी थी शादी

अखिलेश तिवारी पिछले महीने ही एयरफोर्स से रिटायर हुए थे। उन्होंने बेटी का रिश्ता मूल रूप से फतेहपुर के गाजीपुर थाना अंतर्गत बंवारा गांव के रहने वाले विकास भवन में तैनात सांख्यिकी अधिकारी रजत कुमार दीक्षित से तय किया था। एक मार्च शादी की तारीख तय हुई थी। दोनों परिवार शादी की तैयारी में जुटे थे। पिता अखिलेश कुमार ने बताया की शनिवार शाम बेटी सुमन पड़ोस में रहने वाली एक महिला व उनके बेटे के साथ सेवन एयर फोर्स अस्पताल स्थित कैंटीन से शादी के लिए कुछ सामान खरीदने गई थी। देर शाम वहां से लौट रही थी। सुमन आगे स्कूटी से थी, जबकि महिला अपने बेटे के साथ पीछे बाइक से आ रही थीं।

भागने की कोशिश में चढ़ गया बस का पहिया

बाबूपुरवा थाना क्षेत्र के आनंदपुरी गेट के सामने पीछे से आ रही रोडवेज बस ने बेटी की स्कूटी में टक्कर मार दी। सुमन उछलकर सड़क पर गिरी और भागने की कोशिश में बस का पहिया सुमन के ऊपर चढ़ गया। गंभीर हालत में पुलिस सुमन को भार्गव नर्सिंग होम ले गई, जहां से उन्हें एलएलआर अस्पताल रेफर कर दिया गया। वहां पहुंचने पर डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही अखिलेश व उनके मंगेतर रजत दीक्षित के परिवारों में कोहराम मच गया। दोनों परिवार तुरंत अस्पताल पहुंचे और शव देख फफक पड़े। पल भर में शादी वाले घरों में मातम छा गया। 

Edited By: Abhishek