कानपुर, जेएनएन। इन दिनों महंगाई और समस्याओं को लेकर अनोखा विरोध प्रदर्शन का सिलसिला चल पड़ा है। अभी बीते दिवस कांग्रेसियों ने सड़क न बनने पर धान की रोपाई की थी तो दूसरे दिन सपाइयों ने पेट्रोल-डीजल की मूल्यवृद्धि के विरोध में अलग प्रदर्शन किया। रविवार को सपा नेताओं के साथ कार्यकर्ता भैंसा गाड़ी लेकर निकले और उसपर बाइक रखकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव [ Akhilesh Yadav ] के आह्वान पर रविवार को वरिष्ठ सपा नेता हरप्रीत सिंह बब्बर ने पेट्रोल डीजल की बेतहाशा मूल्य वृद्धि के विरोध में भैंसा ठेला पर मोटर साइकिल रखकर विरोध जताया गया। कहा, कोरोना की पहली लहर के बाद दूसरी लहर में आम आदमी का व्यवसाय पूरी तरह चौपट हो चुका है। आम जनता आर्थिक संकट से जूझ रही है और दूसरी तरफ सरकार जनता को ही बर्बाद करने की नीयत से काम कर रही है। पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस, सरसों का तेल और खाद्य सामग्री आदि के मूल्य में वृद्धि कर गरीब और मध्यम वर्ग के ज़ख्मों पर नमक छिड़कने का काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि अबतो ऐसा प्रतीत हो रहा है पश्चिम बंगाल की करारी चुनावी हार से खिसिया कर ठीकरा जनमानस पर महंगाई बढ़ाकर फोड़ा जा रहा है। अब वह दिन दूर नहीं जब जनता विधानसभा चुनाव में वोट की चोट करके सत्ता से बाहर का रास्ता भाजपा को दिखाएगी। प्रदर्शन में जितेन्द्र सिंह संधू, दविंदर सिंह, सुखबीर सिंह, कुलवंत सिंह, अनमोल भाटिया, गुनदीप सिंह, रवीन्द्र रक्सेल, अंशु यादव, पप्पू वर्मा, सुनील वर्मा, नितिन यादव आदि रहे।

Edited By: Abhishek Agnihotri