कानपुर, जेएनएन। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय इतिहास संकलन समिति की पांच संगोष्ठियां कानपुर प्रांत में होंगी। यह जानकारी शुक्रवार को कारवालो नगर स्थित केशव भवन में समिति की कानपुर प्रांत की बैठक में दी गई। अक्टूबर से दिसंबर तक ये संगोष्ठियां कानपुर, फतेहपुर, झांसी, कन्नौज व बांदा में होंगी।

बैठक को अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री संजय मिश्र ने कहा कि देश में वर्ष 1498 से 1961 के बीच का काल स्वबोध, स्वराज एवं प्रतिरोध का प्रतीक रहा है। इसी पर आधारित अमृत महोत्सव देश भर में मनाया जा रहा है। इतिहास संकलन समिति के तत्वावधान में पांच शोध संगोष्ठियां होंगी। इसमें कानपुर, कानपुर देहात, इटावा और औरैया की संगोष्ठी 23 अक्टूबर को कानपुर के आर्मापुर पीजी कालेज में होगी। फतेहपुर की संगोष्ठी 14 नवंबर को मुरादीपुर स्थित त्रिवेदी इंस्टीट्यूट आफ मैनेजमेंट में होगी। ललितपुर, झांसी और जालौन की संगोष्ठी 19 नवंबर को झांसी के राजकीय संग्रहालय में होगी। कन्नौज और फर्रुखाबाद की संगोष्ठी पांच दिसंबर को कन्नौज के बांगर स्थित राजकीय महिला महाविद्यालय में होगी। चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और महोबा की संगोष्ठी 18 दिसंबर को बांदा के पंडित जवाहरलाल नेहरू पीजी कालेज में होगी।

बैठक की अध्यक्षता समिति के प्रांत कार्यकारी अध्यक्ष व वीएसएसडी कालेज के इतिहास विभागाध्यक्ष डा. अनिल कुमार मिश्रा ने की। संचालन प्रांत सचिव डा. पुरुषोत्तम ङ्क्षसह ने किया। इस अवसर पर प्रांत कोषाध्यक्ष वीरेंद्र प्रताप शुक्ल, डा. अंगद सिंह, डा. सुबोध सक्सेना, डा. सुमन शुक्ला, सचिन शुक्ला, अरुण कुमार पांडेय, डा. गिरीश कुमार मिश्रा, डा. भाष्कर पांडेय रहे।

Edited By: Abhishek Agnihotri