कानपुर, जेएनएन। मेडिकल कॉलेज के डीएमएलटी (डिप्लोमा इन मेडिकल लेबोरेट्री टेक्नोलॉजी) विभाग की छात्रा ने एक प्रोफेसर पर दुष्कर्म का प्रयास व अन्य गंभीर आरोप लगाए हैं। छात्रा ने मंगलवार देर रात स्वरूप नगर थाने में छेड़छाड़, दुष्कर्म की कोशिश, जान से मारने की धमकी, तेजाब फेंकने की तहरीर दी।

छात्रा बोली आठ माह से कर रहे प्रताडि़त

पुलिस को दी गई तहरीर और दैनिक जागरण से बातचीत में छात्रा ने बताया कि आठ महीने से उसे प्रोफेसर द्वारा प्रताडि़त किया जा रहा है। आरोप है कि प्रोफेसर अकेला पाकर छेड़छाड़ करते हैं। उसे अकेला बाहर बुलाते हैं। कई बार उससे दुष्कर्म की कोशिश भी की गई। जब उसने इस संबंध में प्राचार्य से शिकायत की तो प्रोफेसर ने प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। वह अन्य विद्यार्थियों पर दबाव डालते हैं कि उसका बहिष्कार किया जाए। जब उसने शिकायतें ऊपर करनी शुरू कीं तो प्रोफेसर ने उसे जान से मार देने और चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी भी दी।

पुलिस ने प्राचार्य के पाले में फेंकी गेंद

स्वरूप नगर के थाना प्रभारी अश्वनी कुमार पांडेय ने बताया कि इस तरह की घटनाओं की जांच विशाखा कमेटी की गाइडलाइन के अनुसार होती है। तहरीर मिलने के बाद उन्होंने मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य प्रो. आरती लाल चंदानी को पत्र लिखकर जांच आख्या मांगी है। उसी के आधार पर ही अगली कार्रवाई होगी। जब इस बारे में मेडिकल कॉलेज की प्राचार्य से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनका मोबाइल स्विच ऑफ मिला।

प्रोफेसर ने कहा-साजिश हो रही है

मेडिकल कॉलेज में हुए इस घटनाक्रम में सवालों के घेरे में आए प्रोफेसर इसे साजिश करार दे रहे हैं। दैनिक जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज की अंदरूनी राजनीति का उन्हें शिकार बनाया जा रहा है। एक महिला प्रोफेसर ने अपने निजी हित के लिए छात्रा को भड़काया है। छात्रा इसलिए नाराज है क्योंकि लंबे समय तक क्लास से अनुपस्थित रहने पर उन्होंने उसके घर चिठ्ठी लिखकर शिकायत की थी। प्रोफेसर ने मांग की उनका व छात्रा का नार्को टेस्ट करा लिया जाए। सच सामने आ जाएगा।  

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस