जागरण संवाददाता, कानपुर। धार्मिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने वाली समन्वय सेवा समिति संस्था किसी पहचान की मोहताज नहीं है। कैंसर रोगियों की सेवा में तत्पर समिति ने जेके कैंसर संस्थान में राम रोट भोजनालय स्थापित कर रखा है। जहां से भर्ती होने वाले मरीज को निशुल्क व तीमारदार को दस रुपये में भरपेट भोजन उपलब्ध करा रही है।

भारत माता मंदिर के संस्थापक स्वामी सत्यमित्रानंद जी महाराज की बनाई संस्था के संयोजक संतोष कुमार अग्रवाल, कोषाध्यक्ष सत्यनारायण नेवटिया, महामंत्री सुरेंद्र कुमार गुप्ता, सह संयोजक मनोज सेंगर व अन्य पदाधिकारी समाज की सेवा का कारवां लगातार बढ़ा रहे हैं। चूंकि संस्था का मिशन मानव सेवा है इसलिए समाज के विभिन्न वर्गों के लोग वहां दान के लिए खिंचे चले आते हैं। संस्था के राम रोटी भोजनालय में लोग जन्मदिन, माता पिता की पुण्यतिथि, शादी की सालगिरह व अन्य अवसरों पर अन्न का दान करते हैं। पदाधिकारी मनोज सेंगर का कहना है कि संसाधन सीमित हैं इसलिए संस्था दवा की व्यवस्था तो नहीं कर पाती लेकिन कैंसर रोगियों व तीमारदारों का पेट भरने जैसा पुण्य काम वे जरूर कर रहे हैं। शास्त्रों में भी कहा गया है कि अन्न के दान से बड़ा कोई दान नहीं। बीमार की सेवा ही सबसे बड़ी सेवा है। इस सूत्र वाक्य को बहुत ही अच्छे से हम पदाधिकारियों ने समझा है और कार्य कर रहे हैं।

रोजाना तीन सौ लोग करते हैं भरपेट भोजन 
29 अप्रैल 2015 को महाराज श्री के सन्यास दिवस पर जेके कैंसर संस्थान में 'राम रोटी' भोजनालय का शुभारंभ हुआ था। तब से यहां निरंतर भोजन का वितरण हो रहा है। प्रतिदिन यहां ढाई से तीन सौ लोग भरपेट भोजन पाते हैं। मरीजों को सुबह दूध, बिस्किट, दोपहर में भोजन और शाम को साढ़े छह बजे से रात आठ बजे तक भोजन उपलब्ध कराया जाता है।

By Krishan Kumar