नई दिल्ली, जेएनएन । 'माय सिटी माय प्राइड' अभियान के तहत कानपुर शहर को बेहतर बनाने का अभियान शुरू हो गया है। स्थानीय लोगों, सरकारी प्रशासन और संस्थाओं ने 16 सितंबर को आयोजित फोरम में 11 मुद्दों के समाधान का संकल्प लिया। इसमें लोगों ने संकल्प लिया कि शहर के चाचा नेहरू अस्पताल को दोबारा शुरू किया जाएगा। अगर यह अस्पताल शुरू होता है तो लोगों को इलाज के लिए एक और बेहतर विकल्प मिल सकेगा। यह अस्पताल लंबे समय से बंद है। 

शहर की बेहतरी के लिए 11 समाधान
1. नगर निगम चाचा नेहरू अस्पताल को फिर से शुरू करने की कवायद की जाएगी। (संरक्षक- कानपुर कपड़ा कमेटी/ भारतीय बालरोग अकादमी)
2. गरीबों के लिए नि:शुल्क मासिक स्वास्थ्य शिविर लगाकर मुफ्त दवा वितरित की जाएगी। (संरक्षक- इंडियन मेडिकल एसोसिएशन/ कानपुर नर्सिंग होम एसोसिएशन/ महंत श्रीकृष्ण दास/ महंत जितेंद्र दास)
3.सरकारी स्कूलों में सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। (संरक्षक- एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. शिखा सिंह/ व्यापारी नेता संत मिश्रा/मुकुंद मिश्रा/ समाजसेवी शिवकुमार शुक्ला गोपाल/ डॉ. अनूप जैन)
4.जाम से निजात दिलाने के लिए बेहतर मैनेजमेंट किया जाएगा। (संरक्षक- महापौर प्रमिला पांडेय)
5.प्रमुख बाजारों में पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। (संरक्षक- बार एसोसिएशन/ किराना बाजार)
6. गंदगी समस्या से निबटने के लिए बाजारों में डस्टबिन रखे जाएंगे। (संरक्षक- मंडलायुक्त सुभाष चंद्र शर्मा)
7. पनकी रोड को मॉडल सड़क बनाया जाएगा। (संरक्षक- विधान परिषद सदस्य डॉ. अरुण पाठक)
8. शहर की छवि को सुधारने के लिए कानपुर की ब्रांडिंग की जाएगी। (संरक्षक- नरेंद्र शर्मा, तिरंगा अगरबत्ती)
9. प्रशिक्षण के साथ हर साल एक हजार युवाओं को रोजगार दिया जाएगा। (संरक्षक- सुनील वैश्य, आइआइए)
10. सीएसआर फंड को खर्च करने के लिए पारदर्शी सिस्टम बनाया जाएगा। (संरक्षक- जिलाधिकारी)
11. बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे। (संरक्षक- सीसामऊ के कपड़ा व्यापारी और व्यापार मंडल)

By Krishan Kumar