कानपुर, जागरण संवाददाता। झांसी के घनाराम इंफ्रा और उससे जुड़े लोगों पर मारे गए छापे में आयकर विभाग को 2.25 करोड़ रुपये की नकदी बरामद हुई है। इसके अलावा दो किलो सोने के जेवर भी हैं जिनका मूल्य एक करोड़ रुपये से अधिक है।

वहीं आयकर अधिकारियों को जांच में यह भी पता चला है कि 40 करोड़ रुपये से अधिक के लेनदेन नकदी में किए गए हैं। आयकर विभाग ने जिन कारोबारियों के यहां छापा मारा है, उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट दिनेश सेठी के घर अब तक ताला पड़ा हुआ है। आयकर अधिकारी अब ताला तोड़कर जांच की तैयारी कर रहा है।

तीन दिन पहले आयकर अधिकारियों ने झांसी के घनाराम इंफ्रा समूह के साथ ही उनके साथी बिल्डरों के यहां भी छापा मारा था। झांसी के अलावा दिल्ली, लखनऊ और कानपुर में यह छापा था। शुक्रवार को तीसरे दिन तक अधिकारियों को 2.25 करोड़ की नकदी और दो किलो सोने के जेवर मिले। इनके बारे में कारोबारी कोई जानकारी नहीं दे पाए। अधिकारियों ने पाया है कि 40 करोड़ रुपये का लेनदेन नकदी में किया गया है। इसकी भी पूछताछ हो रही है कि बड़े लेनदेन बैंक के जरिए क्यों नहीं हुए। छापे में लाकर की संख्या भी बढ़कर 10 हो गई है।

घनाराम ग्रुप से अधिकारियों को फर्जी बिलिंग के भी कागज मिले हैं। इनकी भी जांच शुरू कर दी गई है। झांसी में बन रहा स्काई टावर भी जांच के दायरे में है। इसमें बड़ी संख्या मेें फ्लैट हैं। इनका पैसा लिया गया लेकिन टैक्स नहीं दिया गया।

Edited By: Abhishek Verma