कानपुर, जेएनएन। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के लाला लाजपत राय एलएलआर अस्पताल हैलट में दवाइयों के रखरखाव एवं वितरण की व्यवस्था को दुरुस्त करने का बीड़ा प्राचार्य प्रो. आरबी कमल ने उठाया है। व्यवस्था का सुदृढ़ एवं सरल करने की कवायद भी शुरू कर दी है। इसके पहले चरण में लंबे समय से एक ही पटल पर तैनात फार्मासिस्टों का पटल परिवर्तन करने की तैयारी हो रही है।

मेडिकल कालेज से जुड़े पांच अस्पतालों में दवा खरीद, भंडारण एवं वितरण के साथ-साथ ओपीडी काउंटर की व्यवस्था फार्मासिस्टों के जिम्मे है। इसमें एलएलआर अस्पताल में मुख्य स्टोर है। इसके अलावा अपर इंडिया शुगर एक्सचेंज जच्चा-बच्चा अस्पताल, बाल रोग चिकित्सालय, संक्रामक रोग अस्पताल आइडीएच एवं मुरारी लाल चेस्ट अस्पताल है। साथ ही एलएलआर का इमरजेंसी ब्लाक भी है। यहां चीफ फर्मासिस्ट और फार्मासिस्ट तैनात हैं। एक ही पटल लंबे समय से देखने की वजह से प्राचार्य के पास शिकायतें भी पहुंच रही हैं।

प्राचार्य निरीक्षण में पकड़ गड़बड़ी

शिकायतें मिलने पर प्राचार्य ने औचक निरीक्षण भी किया। इस दौरान गड़बड़ियां भी पकड़ में आई। एक बार मंडलायुक्त एवं डीएम ने भी जायजा लिया था। उन्होंने ई-हास्पिटल सिस्टम में ई-फार्मेसी अविलंब शुरू करने के निर्देश दिए थे, जिसमें अभी तक दवाओं की फीडिंग चल रही है।

  • -फार्मासिस्टों के पटल में बदलाव करने की तैयारी है। ताकि कार्य में पारदर्शिता एवं तेजी आ सके। लंबे समय से एक जगह पर तैनाती से कार्य क्षमता भी प्रभावित होती है। इसलिए बदलाव की तैयार की जा रही है। उनकी तैनाती का ब्योरा मंगाया है। -प्रो. आरबी कमल, प्राचार्य, जीएसवीएम मेडिकल कालेज।

Edited By: Abhishek Agnihotri