कानपुर, जागरण संवाददाता। Durga Pooja 2022 दशहरा के दिन शहर के दुर्गा पूजा पंडालों में मां का विसर्जन विधिवत पूजन अर्चन से किया जा रहा है। बंगाली थीम पर आयोजित महिषासुर मर्दिनी पंडालों में भक्त मां का दर्पण विसर्जन कर सुख समृद्धि कावर मांग रहे हैं। मां के दरबार में बंगाली पूजन के साथ सिंदूर खेला की परंपरा का पालन किया जा रहा है जिसे देखने के लिए बारिश के बीच सैकड़ों भक्त पहुंच रहे हैं।

चकेरी स्थित श्री श्री कालीबाड़ी मंदिर में बारिश के दौरान भक्तों ने पंडाल में मां महिषासुर मर्दिनी का दर्पण विसर्जन किया। बंगाली समाज की महिलाओं ने परंपरागत वेशभूषा पहनकर दर्पण में मां का चेहरा देखा और परिवार कल्याण तथा सुख-समृद्धि की प्रार्थना की। बंगाली समाज में बारी-बारी मां का दर्पण विसर्जन किया।

इस दौरान पंडाल में महिलाओं ने सिंदूर खेला की परंपरा का पालन भी किया। मां महिषासुर मर्दिनी को सिंदूर अर्पित करने के बाद महिलाओं ने एक दूसरे को सिंदूर लगाकर अखंड सौभाग्य का वर मां से मांगा। वहीं, अर्मापुर, शास्त्री नगर, अशोक नगर, मोतीझील और डीएवी लॉन सहित शहर के दर्जनों पूजा पंडालों में मां का विधिवत पूजन अर्चन किया जा रहा है।

माल रोड स्थित एबी विद्यालय में बंगाली समाज ने मां महिषासुर मर्दिनी की विधिवत आरती पूजन कर दर्पण विसर्जन और सिंदूर खेला की परंपरा का निर्वहन किया। महा लक्ष्मी पूजन और पुष्पांजलि अर्पित कर भक्त विधिवत मां का स्मरण वंदन कर रहे हैं। चकेरी कालीबाड़ी समिति के संयुक्त सचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने बताया कि विधिवत पूजन अर्चन के बाद मां का विसर्जन मस्कर घाट पर किया जाएगा। 

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट