कानपुर, जेएनएन। Crackers Market in Kanpur पटाखा कारोबारियों के साथ पुलिस अधिकारियों की शुरुआती बैठक में तय हुआ था कि पिछले वर्ष का स्टाक नहीं बेचा जाएगा। उसे नष्ट किया जाएगा। सिर्फ ग्रीन क्रैकर्स (वे पटाखे जो पर्यावरण के अनुकूल हैं और पारंपरिक पटाखों की तुलना में 30 फीसद कम प्रदूषकों का उत्सर्जन करते हैं) ही बाजार में बेचे जाएंगे। लेकिन, सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन उड़ाते हुए दुकानदारों ने बाजार में पिछले वर्ष के पटाखों को बेचना शुरू कर दिया है जो ग्रीन क्रैकर्स की श्रेणी में न आकर खतरनाक केमिकल वाले हैं। इसकी बिक्री वे दुकानदार करा रहे हैं, जिनके पास लाइसेंस ही नहीं है। मंगलवार को खुलेआम पटाखों की हुई बिक्री देखते हुए बुधवार को मेस्टन रोड पर पुलिस तैनात कर दी गई ताकि कोई भी पटाखा ना बेच सके।

नानाराव पार्क में जाने से पहले मेस्टन रोड स्थित बिसाती बाजार की गलियों में पटाखों की थोक दुकानें लगती थीं। घनी आबादी वाले क्षेत्र के अंदर पटाखों के भंडारण को खतरनाक मानते हुए इस बाजार को नानाराव पार्क में लगाने के आदेश दिए गए, मगर आज भी इन पटाखा कारोबारियों का मूल आधार इन्हीं गलियों में हैं। पिछले वर्ष लाइसेंस मिलने के बाद भी थोक कारोबारी कोर्ट के आदेश के चलते बिक्री शुरू नहीं कर सके थे। इसकी वजह से सभी के पास बहुत अधिक माल बचा रह गया था। करवा चौथ वाले दिन भी खूब आतिशबाजी की गई थी। उसके बाद से बिसाती बाजार की गलियों से पटाखों की बिक्री शुरू हो गई। इस बिक्री को रोकने के लिए कोतवाली और मूलगंज दोनों ही थानों का फोर्स मेस्टन रोड पर लगा दी गई।

असमंजस के चलते फुटकर में बहुत कम आवेदन: बाजार लगने या न लगने को लेकर चल रहे असमंजस में इस बार फुटकर दुकानदारों ने लाइसेंस के लिए आवेदन बहुत कम किया है। शहर में 42 स्थान फुटकर पटाखा बाजार के लिए चिह्नित हैं। इन स्थानों पर दुकानें लगाने के लिए 296 लोगों ने आवेदन किया है। कारोबारियों के मुताबिक हर वर्ष सात से आठ सौ आवेदन आते थे।

इन स्थानों पर लगेगा पटाखा बाजार: गोविंदनगर में रामलीला मैदान नटराज सिनेमा के पीछे, दबौली दुर्गा मंदिर के पीछे, सी ब्लाक गोविंद नगर पार्क सब्जी मंडी, नौबस्ता में बसंत विहार और आवास विकास पार्क, बर्रा में केडीए पार्क बर्रा-3, जनता नगर पुलिस चौकी के बगल में, सीसामऊ में गीता पार्क, बजरिया में गीता पार्क, रायपुरवा में रामलीला मैदान और आचार्य नगर, ग्वालटोली में बृजेंद्र स्वरूप पार्क, स्वरूप नगर में मोतीझील मैदान, नवाबगंज में आजाद पार्क, कल्याणपुर में शनेश्वर मंदिर आवास विकास, लोधेश्वर मंदिर के पास खाली पड़ा स्थान और बुद्धा पार्क इंदिरा नगर, पनकी में पनकी हाउस सब्जी मंडी, काकादेव में शास्त्री नगर सेंट्रल पार्क, नजीराबाद में नारायण पुरवा पार्क पानी टंकी के पास और कमला नेहरू पार्क पश्चिम साइड जवाहर नगर, फजलगंज में सेंट्रल पार्क दर्शन पुरवा, अरमापुर में रामलीला मैदान, चकेरी में पुलिस चौकी श्याम नगर के सामने वाला मैदान, पुलिस चौकी कृष्णा नगर के बगल में, रामलीला मैदान एचएएल ग्राउंड, रामलीला मैदान केडीए कालोनी, रामलीला मैदान बुढिय़ा घाट जाजमऊ, विश्वकर्मा मंदिर के पास और नारायण मैरिज लान जेके-1, रेल बाजार में रामलीला मैदान रेल बाजार चौकी के पास, बाबू पुरवा में भौसा बाजार के सामने बाकरगंज, पुराना सेंटर रामलीला मैदान, जूही में लाल पैलेस के पीछे मेला ग्राउंड और शास्त्री कालोनी ढाल जूही, किदवई नगर में आयुर्वेदिक संस्थान मैदान, कोतवाली में फूलबाग मैदान, बिठूर में बाजार रामलीला मैदान, पुराना रामलीला मैदान बिठूर, पुराना रामलीला मैदान मझावन, उर्स का मैदान रमईपुर।

Edited By: Shaswat Gupta