उन्नाव, जेएनएन। शुक्लागंज के मिश्राघाट पर माखी दुष्कर्म कांड पीडि़ता की चाची का शव और पैरोल पर चाचा रायबरेली जेल से बुधवार सुबह कड़ी सुरक्षा में लाए गए हैं। भारी फोर्स के साथ पुलिस और प्रशासनिक अफसर भी मौजूद हैं। पुलिस ने घाट पर आए अन्य लोगों को शवों की अंत्येष्टि से फिलहाल रोक दिया है। पीडि़ता की चाची के शव के अंतिम संस्कार की तैयारी शुरू हो गई है। चाचा को एक दिन के ही पैरोल पर जेल से लाया गया है।

ये है पूरा मामला

माखी दुष्कर्म कांड में पीडि़ता की कार में रायबरेली में ट्रक ने टक्कर मार दी थी। हादसे में कार सवार उनकी चाची समेत दो लोगों की मौत हुई थी। दुष्कर्म के आरोपित विधायक कुलदीप सेंगर पर दुर्घटना कराने की साजिश करने की चर्चाएं तेज हो गई थीं और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मामले को लेकर सियासी गलियारों में भी हलचल बढ़ गई थी, सपा और बसपा ने भी मामले में प्रदेश सरकार और पुलिस सुरक्षा व्यवस्था को कठघरे में खड़ा किया था।

सुबह सात बजे माखी पहुंचा शव

माखी दुष्कर्म पीडि़ता की चाची का शव बुधवार सुबह करीब 7 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच गांव लाया गया। शव के साथ परिवार के अन्य सदस्य भी पहुंचे। माखी में कई थानों के फोर्स के साथ पीएसी भी तैनात की गई है। शव को अंतिम संस्कार के लिए शुक्लागंज के गंगाघाट ले जाने की तैयारी की गई। घाट तक अंतिम यात्रा में परिजनों के साथ सीओ सफीपुर व सीओ हसनगंज के साथ पुलिस बल मौजूद रहा।

प्रशासन की देखरेख में अंत्येष्टि

शुक्लागंज के मिश्रा कालोनी घाट पर प्रशासन द्वारा अंत्येष्टि की तैयारी की गई है। डीएम देवेंद्र पांडेय व एसपी एमपी वर्मा के साथ एडीएम राकेश सिंह और एएसपी विनोद पांडेय भी मौजूद है। घाट के मार्ग पर से अंत्येष्टि स्थल तक पुलिस का कड़ा पहरा लगा दिया गया है। हाईकोर्ट से पैरोल मिलने के बाद रायबरेली जेल से पीडि़ता के चाचा भी कड़ी सुरक्षा में घाट पर लाये गए हैं। परिवार वालों के अलावा बाकी सभी को घाट से हटा दिया गया है। अंत्येष्टि के लिए लाये गए अन्य शवों को रोक दिया गया है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस