कानपुर देहात, जेएनएन। जनपद में शनिवार दोपहर को एक दर्दनाक हादसा हो गया। दरअसल, वाकया कुछ यूं रहा कि जिले के गजनेर के शंकरपुर गांव में एक बकरा कुएं में गिर गया। बकरे के गिरते ही ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। लोग जीव की जान बचाने की जुगत में लग गए। इसके बाद ही दो ग्रामीणाें ने बकरे को बचाने के लिए कुएं में छलांग लगा दी। हालांकि इसके बाद जो हुआ उसे देखकर वहां मौजूद अन्य लोग भी दंग रह गए। बकरे को बचाने कुएं में कूदे दोनों युवकों को बेहाेश देख लोगों ने बाहर से आक्सीजन देना शुरू किया। पूरे प्रकरण को सुनकर अन्य गांव के लोग भी घटनास्थल पर पहुंच रहे थे। घटना के करीब एक घंटे के बाद दोनों युवकों को दमकलकर्मियों की सहायता से बाहर निकाला जा सका, हालांकि जब उन्हें सीएसची ले जाया गया तो डाक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

यह है पूरा मामला: शंकरपुर गांव में एक किसान का बकरा सूखे कुएं में गिर गया था। उसे बचाने को गांव के बृजेश सिंह व बलबीर रस्सी की मदद से नीचे उतर गए। नीचे जाने पर आक्सीजन की मात्रा कम होने पर दोनों बेहोश हो गए। किसी तरह की आवाज न आने पर ग्रामीण घबरा गए और सीएचसी के साथ ही दमकलकर्मियों को जानकारी दी। स्वास्थ्य कर्मी पहुंचे और पंखे की मदद से हवा को अंदर भेज रहे। इसके अलावा आक्सीजन सिलिंडर भी लगाया गया है। दोनों की अंदर से आवाज नहीं आ रही है इससे  सभी घबराए हुए हैं। भाजपा विधायक विनोद कटियार व जिलाध्यक्ष अविनाश सिंह चौहान भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं। ग्रामीणों ने बताया कि पता नहीं था कि अंदर आक्सीजन की मात्रा कम है वरना बचाने को अंदर जाने ही नहीं देते। सभी भगवान से प्रार्थना कर रहे कि सकुशल बाहर निकल आए। दमकलकर्मियों का सभी इंतजार कर रहे हैं।

Edited By: Shaswat Gupta