उन्नाव, जेएनएन। Accident in Unnao क्षेत्र के एक गांव में बोरवेल के गड्ढे में दम घुटने से मालिक और मजदूर की मौत हो गई, जबकि मजदूर के भाई की हालत गंभीर है। किशोर मजदूर सफाई करने नीचे गया था। उसे सांस लेने में तकलीफ होने पर मालिक और भाई बचाने उतरे थे। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मामले की जांच में जुटे हैं।  

लखनऊ के मोहनलाल गंज थानाक्षेत्र के गांव बेंदउवा निवासी रामसेवक ने असोहा थानाक्षेत्र के गांव समाधा में नौ साल पहले जमीन खरीदी थी। उन्होंने खेत पर ही बोङ्क्षरग कराई थी। पास में ही कमरा बनवाकर वर्तमान में रह भी रहे थे। शनिवार अपराह्न करीब तीन बजे खेत में बोरवेल के गड्ढे की सफाई करने के लिए उन्होंने समाधा निवासी अमृतलाल के 15 वर्षीय पुत्र मुकेश और 17 वर्षीय  प्रहलाद को बुलाया था। मुकेश गड्ढे में उतरा तो अचानक उसका दम घुटने लगा। इस पर प्रहलाद और रामसेवक उसे बचाने के लिए नीचे उतरे। तीनों को बेहाल देख रामसेवक की पत्नी रामवती ने शोर मचाया तो आसपास के सैकड़ों ग्रामीण पहुंचे। रस्सी के सहारे तीनों को बाहर निकाला गया। हादसे में मुकेश व रामसेवक ने दम तोड़ दिया, जबकि प्रहलाद को गंभीर हालत में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र असोहा ले जाया गया, जहां से डाक्टर ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। ग्राम प्रधान हरिकेश यादव की सूचना पर एसडीएम पुरवा राजेश चौरसिया, सीओ विक्रमाजीत ङ्क्षसह व थाना प्रभारी असोहा राजू राव पहुंचे। स्वजन की चीखें सुन हर किसी की आंखें नम हो गईं। एसडीएम ने बताया कि प्रथम दृष्टया बोरवेल के गड्ढे में जहरीली गैस से मौत होने की आशंका है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से सही कारण पता चल सकेगा। लेखपाल से रिपोर्ट मांगी है। नियमानुसार आर्थिक मदद दिलाई जाएगी। 

Edited By: Shaswat Gupta