जागरण संवाददाता, कानपुर: गंगा में गिर रहे 16 नालों को बंद करने के लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई है। नालों को बंद करने के लिए केवल 68 दिन बचे हैं। ऐसे में जल निगम का पूरा अमला एक नाले को बंद करने में जुट गया है।

गंगा में गिर रहा 20 एमएलडी सीवर

गंगा में सीधे 20 एमएलडी सीवर का पानी गिर रहा है। कुंभ मेले को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 दिसंबर तक नालों को बंद करने के निर्देश दिए हैं।

-------

16 नालों का हाल

चार नाले बंद होने का दावा

जेल नाला, पुलिस लाइन नाला, टैफ्को नाला व परमट नाला

हकीकत

जेल नाला और परमट नाला अब भी गंगा में गिर रहे

---

छह नालों को 31 अक्टूबर तक बंद करने का दावा

सीसामऊ नाला, नवाबगंज, म्योर मिल, रानी घाट, गुप्तार घाट और परमियापुरवा नाला 31 अक्टूबर तक बंद करना है।

हकीकत

म्योर मिल व गुप्तार घाट नाला के बंद होने का काम बाढ़ के चलते 15 नवंबर तक होना मुश्किल नजर आ रहा है।

---

टेनरी के तीन नालों को बंद करने की कवायद

टेनरी के तीन नाले वाजिदपुर, शीतला बाजार और बुढि़याघाट नाले को बंद करने की कवायद चल रही है। इसके लिए सीईटीपी व पंपिंग स्टेशन की मरम्मत चल रही है। एयरफोर्स नाला को एसटीपी के माध्यम से ट्रीट करके डाला जाएगा।

बायो रेमिडिएशन तकनीक से साफ होंगे दो नाले

छावनी क्षेत्र में आने वाले गोला घाट व सत्तीचौरा घाट में गिर रहने नालों को जल निगम बायो रेमिडिएशन (सिल्ट में एंजाइम की डोजिंग कर रिएक्शन करा बीओडी बढ़ाना) के माध्यम से साफ कराएगा। इसका खर्च छावनी जल निगम को देगा।

------------

नमामि गंगे के तहत छह नालों में चार को 31 अक्टूबर तक बंद कर दिया जाएगा। बचे दो नालों को नवंबर तक बंद किया जाएगा। 15 दिसंबर तक 16 नालों को गंगा में नहीं गिरने दिया जाएगा।

-घनश्याम द्विवेदी, परियोजना प्रबंधक जल निगम

Posted By: Jagran