संवाद सूत्र, हाथरस : आनंद विहार टर्मिनल से सीतामढ़ी जाने वाली लिच्छवी एक्सप्रेस में शनिवार शाम आग की सूचना से यात्रियों में भगदड़ सी मच गई। लोग ट्रेन से कूदकर पटरी पर आ गए। बाद में सही जानकारी पर जान में जान आई। दरअसल चेन पु¨लग के कारण पहियों से चिन्गारी व धुआं निकला था, जिससे आग की अफवाह फैली।

दिल्ली-हावड़ा ट्रैक पर स्थित सासनी रेलवे स्टेशन के पास गेट नंबर 97/98 के बीच लगभग 7.30 बजे यह घटना हुई। अलीगढ़ के बाद इस ट्रेन का स्टॉपेज टूंडला है। इसलिए ट्रेन अपनी रफ्तार पर थी। किसी ने बीच में ट्रेन रोकने के लिए चेन खींच दी। तेज रफ्तार पर चेन ¨खचने और ब्रेक लॉक पहिये से चिपक जाने से दो बोगियों के पहियों से चिनगारी व धुआं उठने लगा। ट्रेन को जबरदस्त झटका लगा। यात्री सकते में आ गए। ट्रेन के रुकते ही लोगों को जले की बदबू आने लगी। इससे बोगियों में आग की अफवाह फैल गई। कुछ यात्रियों ने ¨चगारी भी उठती देखी थी। इसलिए इन लोगों ने ट्रेन से कूदना शुरू कर दिया। पूरी ट्रेन में यह अफवाह फैल गई। कुछ ही पल में बड़ी संख्या में यात्री पटरियों पर आ गए। गार्ड व चालक से घटना की जानकारी की। चालक ने अफवाह को दूर किया।

इधर खबर पाकर सासनी स्टेशन का स्टाफ व रेलवे पुलिस मौके पर पहुंच गई। इन लोगों ने भी यात्रियों को समझाया। तब यात्री वापस अपनी सीट पर पहुंचे। उप स्टेशन अधीक्षक, सासनी योगेश कुमार शर्मा ने बताया कि चेन पु¨लग के कारण धुआं उठा था, जिससे अफवाह फैली। ब्रेक लॉक फाइबर का होने के कारण धुआं निकला। गार्ड व ड्राइवर की मदद से इसे ठीक कर दिया गया। करीब दस मिनट बाद ट्रेन रवाना कर दी गई।

Edited By: Jagran