जागरण संवाददाता, हाथरस : सादाबाद में मासूम बच्ची की हत्या में उसकी मां का ही हाथ निकला। अपने अवैध संबंधों को छिपाने के लिए उसने पड़ोस में रहने वाले प्रेमी के साथ मिलकर उसका गला दबाकर हत्या की थी। यही नहीं पुलिस को गुमराह करने के लिए बच्ची के प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ भी की, जिससे लगे की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई है। इस पर्दाफाश के बाद बच्ची के पिता व परिवार के लोग सदमे में हैं।

पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ शंकर मीना ने मंगलवार दोपहर प्रेस कान्फ्रेंस कर घटना का पर्दाफाश किया। 12 नवंबर को सादाबाद के गांव में आठ वर्षीय बच्ची की हत्या हुई थी। रात आठ बजे बच्ची लापता हुई थी तथा रात दस बजे शव खेत में मिला था। बच्ची के प्राइवेट पा‌र्ट्स से से खून आने के कारण दुष्कर्म की संभावना जताई गई। पोस्टमार्टम व स्लाइड रिपोर्ट में इसकी पुष्टि हुई। इस ब्लाइंड केस में पुलिस चकरघिन्नी बनी हुई थी। गांव में से लगभग 55 लोगों को राउंडअप पर लिया गया, पर पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। दो दिन पहले पुलिस को सुराग मिला। महिला के पड़ोसी युवक को उठाया तो केस की परतें हटती चली गईं। एसपी के अनुसार बच्ची की मां ने ही अपने प्रेमी की मदद से उसकी हत्या की थी।

दरअसल घटना वाले दिन दोपहर को बच्ची ने अपनी मां को पड़ोसी युवक के साथ देख लिया था। मां को आपत्तिजनक स्थिति में देखने के बाद बच्ची वहां से भाग गई थी। महिला को डर था कि रात को पति के आने पर वह उन्हें सारी जानकारी दे देगी। इसलिए प्रेमी के साथ मिलकर शाम के समय गला दबाकर बच्ची की हत्या कर दी। यही नहीं मां ने ही प्राइवेट पार्ट से छेड़छाड़ कराई, जिससे पुलिस भ्रमित हो और उन तक न पहुंच सके। मंगलवार की सुबह पुलिस ने पहले चौधरी चरण सिंह चौराहे से पड़ोसी प्रेमी भूरा उर्फ नटवर सिंह तथा थोड़ी देर बाद गांव से ही बच्ची की मां को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने महिला के पति व परिवार के अन्य लोगों को बुलाकर पूरा घटनाक्रम बताया। परिजनों के सामने दोनों ने अपना गुनाह कबूल लिया। बेटी की हत्या में पत्नी का हाथ होने की जानकारी पर पति के होश उड़ गए।

प्रेस वार्ता के दौरान एएसपी सिद्धार्थ वर्मा, सीओ योगेश कुमार व एसएचओ जगदीशचंद्र भी मौजूद रहे। दोनों को हत्या व दुष्कर्म के मामले में कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें जेल भेजा गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप