Move to Jagran APP

Jammu Bus Accident: 10 लोगों के शव पहुंचते ही हाथरस के गांवों में मचा कोहराम, अंतिम संस्कार देख हर आंख हुई नम

Jammu Bus Accident Update जम्मू के शिवखाेड़ी जाते समय बस हादसे में 22 लोगों की जिंदगियां चली गई। गहरी खाई में गिरने से धार्मिक यात्रा पर निकले हाथरस के 10 लोग भी मरने वालों में शामिल थे। वहीं कई घायल हैं। कुछ घायल उपचार के बाद घर लौट आए हैं। कल रात में अलीगढ़ में 11 शवों का अंतिम संस्कार हुआ था।

By Jagran News Edited By: Abhishek Saxena Sun, 02 Jun 2024 08:04 AM (IST)
एंबुलेंस से हाथरस में आए 10 लोगों के शव।

जागरण संवाददाता, हाथरस। जम्मू हादसे में हाथरस के 10 लोगों की मृत्यु के बाद शनिवार देर रात दो बजे उनके शव हाथरस पहुंचे। गांव मझोला और नगला उदय सिंह में पांच-पांच लोगों के शव पहुंचे ही कोहराम मच गया। दोनों गांवों में चार-चारलोगों की चिताएं पास-पास जलाई गई। वहीं, दो बच्चों के शव को पास में ही दफनाया गया। अंतिम संस्कार को देखकर हर किसी की आंखें नम हो गई।

हाथरस के 10 लोग भी थे मरने वालों में शामिल

जम्मू में गुरुवार को हाथरस अलीगढ़ के श्रद्धालुओं की 150 फीट गहरी खाई में गिर गई थी। इस हादसे में हाथरस जनपद के 10 और अलीगढ़ जनपद के 12 लोगों की मृत्यु हुई थी। पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के बाद ट्रेन से शवों को अलीगढ़ और हाथरस भेजा गया। झेलम एक्सप्रेस 11 शव भेजे गए जिसमें 10 हाथरस की थे। एक शव अलीगढ़ का था।

ये भी पढ़ेंः UP Exit Poll Result 2024: यूपी की 80 सीटों पर भाजपा का कैसा प्रदर्शन? एबीपी के एग्जिट पोल के नतीजे में जानिए सपा-कांग्रेस का हाल

एंबुलेंस से हाथरस भेजे शव

झेलम एक्सप्रेस निर्धारित समय से 11 घंटे की देरी से मथुरा स्टेशन पर रात्रि साढे 12 बजे पहुंची। तत्काल ही एंबुलेंस से शवों को हाथरस के लिए रवाना कर दिया गया। मृतक रणवीर सिंह, रेनू, राहुल, जयप्रकाश और बालिका प्राची के शव गांव मझोला ले गए। वहीं, धर्मवती, रज्जो देवी, वीरपाल, रिषीपालऔर बालक यश के शव को गांव नगला उदय सिंह लाया गया। मझोला में सुबह चार बजे शवों का अंतिम संस्कार किया गया।

ये भी पढ़ेंः UP Weather: भीषण गर्मी और लू से यूपी में 24 और मौतें; मानसून को लेकर IMD का आया अपडेट, इस बार सामान्य से अधिक बारिश

इसमें रणवीर सिंह को बेटे चंद्र मोहन, जयप्रकाश को बेटा सुभाष, रेनू को बेटा मयंक, राहुल को छोटे भाई विक्रम ने मुखाग्नि दी। वहीं, प्राची को ताऊ मनोज कुमार ने दफन करवाया। वहीं, नगला उदय सिंह में सुबह साढे छह शवों का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान हजारों लोगों की भीड़ जम रही। जनप्रतिनिधि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।