संवाद सहयोगी, हाथरस : कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है, लगातार डब्लूएचओ विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दे रहा है। शुक्रवार दोपहर अलीगढ़ मंडल के अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. सुरेंद्र सिंह उपाध्याय ने जिला व एमडीटीबी अस्पताल का निरीक्षण किया। एमडीटीबी अस्पताल में बच्चों के लिए बनाए जा रहे पीकू वार्ड का निरीक्षण कर तैयारियों को देखा। निरीक्षण के बाद अपर निदेशक ने संचारी रोग नियंत्रण अभियान को लेकर बैठक सीएमओ सभागार में की।

अपर निदेशक डॉ. सुरेंद्र सिंह उपाध्याय ने पैथोलाजी लैब, पीकू वार्ड, सीटी स्कैन कक्ष का निरीक्षण किया। कोविड नियमों का पालन करने व मास्क लगाने के निर्देश कर्मचारियों को दिए। अस्पताल परिसर में साफ सफाई की व्यवस्था ठीक रखने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान सीएमएस डा. आइवी सिंह मौजूद रहे। निरीक्षण के बाद अपर निदेशक सीएमओ कार्यालय पहुंचे, जहां सीएमओ, एसीएमओ तथा सीएचसी केंद्रों के एमओआइसी के साथ संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा की बैठक ली। गांवों में जाकर संक्रामक रोगों के प्रति लोगों को जागरूक किए जाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही जिन सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की रंगाई पुताई का कार्य नहीं हुआ है, उन केंद्रों पर तत्काल रंगाई पुताई का कार्य कराने के निर्देश दिए। आयुष्मान कार्ड बनाए जाने का कार्य सुस्त गति से चलने पर नाराजगी जाहिर की। बैठक में सीएमओ डा. सीएम चतुर्वेदी, एसीएमओ डा. विजेंद्र सिंह, डा. संतोष कुमार, डा. मधुर कुमार मौजूद रहे। कोविड प्रभावित बच्चों

संरक्षण देगा प्रशासन

जासं, हाथरस: मुख्य विकास अधिकारी आरबी भास्कर के अनुसार ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता या कानूनी अभिभावक कोविड की बीमारी के दौरान अस्पताल में हैं या आइसोलेशन में हैं या उनकी मृत्यु हो गई हो और उनके बच्चों की देखभाल करने वाला कोई नहीं हो तो कोविड प्रभावित बच्चों को संरक्षण एवं आश्रय प्रदान कराने के लिए महत्वपूर्ण दूरभाष नंबर को सभी सरकारी अस्पतालों, स्कूलों, पंचायत भवनों तथा सभी सरकारी दफ्तरों सार्वजनिक स्थानों आदि पर सीडब्ल्यूसी, डीपीओ, डीसीपीओ, चाइल्ड लाइन 1098, महिला हेल्प लाइन 181 के संपर्क कर मदद मांगी जा सकती है। जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला बाल संरक्षण अधिकारी, हाथरस-7518024067, बाल कल्याण समिति हाथरस-9411852333, नंबरों को कोविड प्रभावित बच्चों की मदद के लिए अपने एवं अधीनस्थ कार्यालयों जैसे स्कूल, पंचायत भवन, सभी सरकारी कार्यालयों, सार्वजनिक स्थानों पर प्रदर्शित किया जाएगा।