संवाद सहयोगी, हाथरस : कोरोना संक्रमण महामारी में तमाम बच्चों के अभिभावक नहीं रहे। ऐसे बच्चों की मदद के लिए सरकार की ओर से पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। स्कूलों में सूचना पट पर महत्वपूर्ण अधिकारियों के नंबर अंकित करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि उन नंबरों के जरिये जरूरतमंद बच्चे मदद मांग सकें।

शासन से फरमान के बाद बीएसए ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र जारी कर निर्धारित नंबर सभी विद्यालयों के सूचना पट पर लिखवाने के निर्देश दिए हैं। ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता या कानूनी अभिभावक कोविड की बीमारी के दौरान अस्पताल में हैं, या आइसोलेशन में हैं, या फिर उनकी मृत्यु हो गई हो और बच्चों की देखभाल करने वाला कोई न हो तो ऐसे बच्चों की मदद निर्धारित नंबरों पर फोन करके की जा सकती है।

नहीं खत्म हुआ खतरा

रक्षाबंधन के बाद संक्रमण का खतरा न बढ़ जाए, इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सचेत हैं। जिला अस्पताल के अलावा सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर कोविड की एनटीजन व आरटीपीसीआर जांच की रफ्तार बढ़ाई जाएगी, क्योंकि त्योहार पर दूसरे राज्य व शहरों से तमाम लोग त्योहार को मनाने के लिए आए थे। इनका कहना है

सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को विद्यालयों के सूचना पट पर महत्वपूर्ण नंबर अंकित कराने के निर्देश दिए गए हैं। हेड मास्टरों को जल्द से जल्द विद्यालयों के सूचना पट पर नंबर अंकित कराने होंगे।

-शाहीन, बीएसए, हाथरस। ये नंबर होने हैं अंकित

-जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला बाल संरक्षण अधिकारी 7518024067

- बाल कल्याण समिति हाथरस 9411852333

-महिला हेल्प लाइन 181

-चाइल्ड हेल्प लाइन 1098

Edited By: Jagran