पिलखुवा [संजीव वर्मा]। केंद्रीय सड़क एवं परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे (Delhi Meerut Expressway) के तीसरे चरण का उद्घाटन किया। पिलखुवा के राजपूताना रेजीमेंट इंटर कॉलेज में आयोजित उद्घाटन समारोह में बटन दबाकर डासना से हापुड़ के बीच बने 6 लेन नेशनल हाईवे और चार लेने की सर्विस रोड को विधिवत रूप से जनता को सौंपा। 

इस मौके पर मंच पर केंद्रीय सड़क परिवहन राज्य मंत्री वीके सिंह, उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, मेरठ-हापुड़ के सांसद राजेंद्र अग्रवाल और राज्यसभा सदस्य अनिल अग्रवाल भी मौजूद हैं।

दिल्ली-यूपी आने जाने वालों को लाभ

एलिवेटेड रोड के शुरू होने से यूपी के कई जिलों के साथ दिल्ली के लोगों को भी फायदा होगा। इससे पहले यहां पर लोगों को घंटों का जाम झेलना पड़ता था। एलिवेटेड रोड से सिर्फ 15 मिनट में हापुड़ से डासना की दूरी तय हो जाएगी।

डासना से मेरठ और हापुड़ जुड़ जाएंगे दिल्ली वाले

गौरतलब है कि दिल्ली में सराय काले खां से डासना तक 14 लेन हाईवे का निर्माण कराया गया है,  जबकि डासना से हापुड़ तक 8 लेन का निर्माण हो रहा है,  जिसमें सिक्स लेन बनकर तैयार हो चुका है। वहीं डासना से मेरठ एक्सप्रेस वे का भी निर्माण तेजी से चल रहा है।

एनसीआर को मिलेगी प्रदूषण से मुक्ति

पर्यावरण को शुद्ध करने के लिए भी मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस-वे से देश में एक शुद्ध वातावारण मिलेगा। इसके पीछे वजह यह है कि एक्सप्रेस-वे से एनसीआर को प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी, जिसमें वाहनों में जाम के कारण फैलने वाला प्रदूषण समाप्त हो जाएगा।

रामपुर-मुरादाबाद का सफर भी हुआ आसान

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे तैयार होने पर मुरादाबाद और रामपुर रूट पर जाना-आना काफी आसान हो गया है। इसके साथ हापुड़ होते हुए मेरठ जाने की राह भी आसान हुई है। यहां पर बता दें कि 1058 करोड़ रुपये की लागत से बने नेशनल हाईवे पर स्मार्ट मॉनीटरिंग सिस्टम लगाने काम जारी है। एक महीने के अंदर कैमरे लग जाएंगे। इसके बाद ओवर स्पीड व परिवहन नियमों का पालन न करने पर ऑनलाइन चालान कट सकेंगे।

बता दें कि जिला गाजियाबाद के डासना से हापुड़ बाइपास तक योजना के मुताबिक, छह लेन कार्य दिसंबर 2016 में शुरू हुआ था। 1058 करोड़ की लागत से 22.27 किमी सड़क का चौड़ीकरण हुआ है, जिसमें छह लेन सड़क और दोनों तरफ सर्विस रोड बनाई गई है।

 पिलखुवा में पौने पांच किमी लंबा एलिवेटेड रोड बनाया गया है। एलिवेटेड रोड 150 पिलर्स पर है, साथ ही 13 अंडर पास भी बनाए गए हैं। उल्लेखनीय है कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे को चार चरणों में बांटा गया है। निजामुद्दीन दिल्ली से यूपी गेट, यूपी गेट से डासना, डासना से हापुड़ और चौथा चरण डासना से मेरठ है। इनमें से दो चरणों का कार्य पूरा चुका है।

इन चरणों का कार्य पूर्ण

निजामुद्दीन दिल्ली से यूपी गेट

कुल दूरी : 8.7 किमी

कुल लागत : 841.5 करोड़

उद्घाटन हुआ : मई 2018

डासना से हापुड़

कुल दूरी : 22.27

कुल लागत : 1058 करोड़

उद्घाटन : 30 सितंबर 2019

इन चरणों का कार्य अधूरा

यूपी गेट से डासना

कुल दूरी : 19. 2

कुल लागत : 1989 करोड़

काम शुरू : छह नवंबर 2017

काम पूरा करने का दावा : 2019

काम शुरू : 35 फीसद

डासना से मेरठ

कुल दूरी : 32 किमी

कुल लागत : 1130 करोड़

काम शुरू : अप्रैल 2018

काम पूरा करने का दावा : 2019

कार्य शेष : 35 प्रतिशत

पूरी तरह निर्मित होने के यह देश का पहले 14 लेन का हाई-वे होगा। इस हाई-वे पर 14 लेने की रोड के अलावा 2.5 किलोमीटर का साइकिल ट्रैक भी बनाया जा रहा है। यह ट्रैक छह लेने का होगा और दोनों ओर 4-4 लेन के हाई-वे होंगे।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस