गोरखपुर, जेएनएन। स्पेशल के रूप में चल रही एक्सप्रेस ट्रेनों की समय सारिणी एक जनवरी से बदल जाएगी। यात्री हेल्पलाइन नंबर 139 या नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम (एनटीईएस) पर ट्रेनों की समय सारिणी जांचने के बाद ही यात्रा आरंभ करें। इसके अलावा डिजिटल कैलेंडर भी लागू होगा। रेलकर्मी कहीं भी, कभी भी अपने मोबाइल पर कैलेंडर और छुट्टियों के बारे में जानकारी हासिल कर सकेंगे।

समय सारिणी बदलने वाली कुछ प्रमुख ट्रेनें

01015-01016 गोरखपुर-एलटीटी-गोरखपुर कुशनीगर एक्सप्रेस

05018-05017 गोरखपुर-एलटीटी-गोरखपुर दादर एक्सप्रेस

02597- 02598 गोरखपुर-सीएसएमटी-गोरखपुर एक्सप्रेस

05022-05021 गोरखपुर-शालीमार-गोरखपुर एक्सप्रेस

05029-05030 लखनऊ-पाटलीपुत्र-लखनऊ एक्सप्रेस

02595-02596 गोरखपुर- आनंदविहार-गोरखपुर एक्सप्रेस

05047-05048 गोरखपुर-कोलकाता-गोरखपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस

05049-5050 गोरखपुर-कोलकाता-गोरखपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस

05051-05052 गोरखपुर-कोलकाता-गोरखपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस

05027-0528 गोरखपुर-हटिया- गोरखपुर मौर्य एक्सप्रेस

02511-02512 गोरखपुर-कोचुवेली-गोरखपुर एक्सप्रेस। 

आज से नेपानगर में भी रुकेगी कुशीनगर एक्सप्रेस

रेलवे बोर्ड ने एक जनवरी से कुशीनगर एक्सप्रेस सहित कुछ ट्रेनों का ठहराव बढ़ा दिया है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 01015/01016 लोकमान्य तिलक टर्मिनस-गोरखपुर-लोकमान्य तिलक टर्मिनस कुशीनगर एक्सप्रेस 31 जनवरी तक नेपानगर में भी एक मिनट रुकेगी।

किसान आंदोलन के चलते निरस्त रहेंगी ट्रेनें

पंजाब में चल रहे किसान आंदोलन के चलते स्पेशल ट्रेनों का निरस्तीकरण जारी है। मुख्य जनसंपर्क अधिकारी पंकज कुमार सिंह के अनुसार 01 जनवरी को चलने वाली 05211 दरभंगा-अमृतसर तथा 03 जनवरी को चलने वाली 05212 अमृतसर-दरभंगा स्पेशल ट्रेन निरस्त रहेगी। इसके अलावा कुछ ट्रेनें मार्ग बदलकर चलाई जाएंगी।

आज से और भी बदलेगा बहुत कुछ

एक जनवरी से परिवहन विभाग में कई बदलाव होंगे। प्रदूषण जांच शुल्क बढ़ जाएगा। टोल प्लाजा पर फास्टैग अनिवार्य हो जाएगा। बिना फास्टैग के वाहनों को टोल प्लाजा पर वाहनों को रोक लिया जाएगा। निर्धारित शुल्क के अलावा अतिरिक्त जुर्माना देने के बाद ही उन्हें आगे जाने की अनुमति मिलेगी। सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रशासन) श्याम लाल के अनुसार फास्टैग के लिए संबंधित विभागों, अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित कर दिया गया है।

बिना फास्टैग के वाहनों की न बिक्री होगी न ही पंजीयन

इसके अलावा बिना फास्टैग के वाहनों की न बिक्री होगी और न ही पंजीयन हो पाएगा। वाहनों की फिटनेस जांच के लिए भी फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया है। एआरटीओ के अनुसार प्रदूषण जांच शुल्क बढ़ा दिया गया है। एक जनवरी से लागू हो जाएगा। दो पहिया वाहनों का 50 रुपये, तीन और हल्के चार पहिया वाहनों का 70 रुपये तथा डीजल चालित भारी वाहनों के लिए 100 रुपये शुल्क निर्धारित कर दिया गया है। अब डीलरों के यहां भी प्रदूषण जांच भी हो जाएगी। डीलरों को वर्कशाप में प्रदूषण जांच केंद्र स्थापित करने के लिए निर्देशित कर दिया गया है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021