प्रदीप श्रीवास्‍तव, गोरखपुर। गोरखपुर के आरोग्‍य मंंदिर में मिट्टी का लेप लगाकर कई गंभीर रोगों का इलाज किया जाता है। नेचुरोपैथी पर आधारित इलाज कराने के लिए यहां देश भर से ही बल्कि विदेशों से भी लोग आते हैं। चिकित्‍सकों के मुताबिक शरीर पर मिट्टी का लेप लगाने से तनाव व अनिद्रा की समस्‍या समाप्‍त होती है। यह ब्लड प्रेशर को संतुलित करता है और इससे त्वचा संबंधी रोगों में चमत्कारी लाभ मिलता है। यह नसों की कमजोरी से होने वाले सभी रोगों में लाभदायक है।

एशियन रिकार्ड तोड़ने की तैयारी

आरोग्‍य मंदिर इस बार एशियन रिकार्ड तोड़ने की तैयारी कर रहा है। 18 नवंबर को नेचुरोपैथी डे पर यहां मिट्टी लेप का एशियन रिकॉर्ड तोड़ने की तैयारी की जा रही है। मंदिर में इसकी प्रैक्टिस भी शुरू कर दी गई है। यहां आए लोगों को प्रतिदिन मिट्टी का लेप लगाया जा रहा है।

निश्शुल्क किया जा रहा मिट्टी का लेप

आरोग्‍य मंदिर में हर रविवार को लोगों को निश्शुल्क मिट्टी का लेप किया जा रहा है। लोग यहां आकर अपने ऊपर मिट्टी लेप कराकर धूप में बैठ रहे हैं। मिट्टी सूखने के बाद उन्‍हें स्‍नान कराया जा रहा है। आरोग्‍य मंदिर के प्राकृतिक चिकित्सक डॉ. विमल मोदी, डॉ. राहुल मोदी व योगाचार्य डॉ. पीयूष पाणि पांडेय के निर्देशन में लोगों को मिट्टी का लेप कराया जा रहा है। यहां पर लोगों को मड बाथ भी कराया जा रहा है।

यह होता है फायदा

आरोग्य मंदिर के चिकित्‍सकों के मुताबिक यहां हवा, पानी और मिट्टी से मानसिक तनाव, बेचैनी, घबराहट, त्वचा रोगों से मुक्ति दिलाने का कार्य किया जा रहा है। शरीर पर कुछ समय मिट्टी का लेपन करने से जिस सुकून का अनुभव होता है वह दवाओं के लंबे कोर्स से भी नहीं मिलता है।

इस तिथि को होगा निश्‍शुल्‍क इलाज

डॉ. विमल मोदी ने बताया कि 12 से 18 नवंबर तक सुबह 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक मिट्टी से निश्शुल्क उपचार किया जाएगा। लोगों को अपने साथ नहाने के बाद पहनने के लिए एक कपड़ा ले आना होगा। उन्‍होंने बताया कि प्राकृतिक शिक्षा शरीर से गंदगी निकालने का काम करती है।

पांच सौ लोगों को मिट्टी लेप लगाने का लक्ष्‍य

6, 13, 20 तक लोगों का निश्‍शुल्‍क इलाज किया जा चुका है। अब 27 अक्टूबर तथा 3 व 10 नवंबर को पुन: मिट्टी लेप किया जाएगा। आरोग्य मंदिर की कोशिश है कि नेचुरोपैथी डे 18 नवंबर पर पांच सौ लोगों को मिट्टी लेप कर पूर्व का एशियन रिकार्ड तोड़ा जाए। जो लोग भी इस प्रक्रिया में शामिल होना चाहते हैं मिट्टी लेप शरीर पर 20 मिनट रखा जाएगा।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप