गोरखपुर, जागरण संवाददाता। नेपाल और सीमावर्ती क्षेत्र से गोरखपुर और नौतनवा के बीच आवागमन करने वाले लोगों के लिए राहत भरी खबर है। गोरखपुर से नरकटियागंज और भटनी से बनारस की राह भी आसान होगी। यात्रियों की बढ़ती संख्या और मांग को देखते हुए बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन के प्रस्ताव पर गोरखपुर-नौतनवा, गोरखपुर-नरकटियागंज और भटनी-बनारस सहित चार पैसेंजर ट्रेनों (सवारी गाड़ी) को फिर से संचालित करने की हरी झंडी दे दी है।

22 नवंबर से चलेंगी गोरखपुर-नौतनवा व गोरखपुर-नरकटियागंज, 18 से भटनी-बनारस पैसेंजर

गोरखपुर से नौतनवा के बीच 05469-05470 तथा 05471-05472 नंबर की दो तथा गोरखपुर-नरकटियागंज के बीच 05450-05449 नंबर की एक पैसेंजर ट्रेन 22 नवंबर से रोजाना चलाई जाएगी। जबकि, बनारस-भटनी के बीच 01748-01747 नंबर की पैसेंजर ट्रेन 18 नवंबर से प्रतिदिन चलने लगेगी। इन सभी ट्रेनों में जनरल के आठ-आठ सहित कुल 10-10 कोच लगाए जाएंगे। साथ ही इन पैसेंजर ट्रेनों में भी एक्सप्रेस का किराया लगेगा।यात्रियों को न्यूनतम 15 की जगह 30 रुपये किराया देना होगा। यानी, लोगों की जेब ढीली होगी। इन ट्रेनों को संचालित करने के लिए परिचालन विभाग ने दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। साथ ही इन ट्रेनों में लगने वाले कोच भी तैयार होने लगे हैं। यार्डों में खड़े कोचों की मरम्मत युद्ध स्तर पर शुरू है।

कोविड की दूसरी लहर से ठप था ट्रेनों का संचालन, पैसेंजर में भी लगेगा एक्सप्रेस का किराया

यहां जान लें कि कोविड की दूसरी लहर से ही इन ट्रेनों का संचालन ठप है। गोरखपुर से वर्तमान में नौ पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं। त्योहारों में पैसेंजर ट्रेनों के यात्रियों की संख्या बढ़ गई है। जानकारों के अनुसार रेलवे प्रशासन ने गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर ट्रेन को भी संचालित करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर बोर्ड को भेज दिया है। रेलमार्ग पर चलने वाली ट्रेनों और यात्रियों की संख्या की समीक्षा चल रही है। जल्द ही गोरखपुर-अयोध्या पैसेंजर ट्रेन को संचालित करने की अनुमति मिल जाएगी। गोरखपुर सहित पूर्वोत्तर रेलवे के विभिन्न स्टेशनों से 64 जोड़ी पैसेंजर ट्रेनें चल रही हैं।

Edited By: Pradeep Srivastava