गोरखपुर, जेएनएन। मुंबई जाने वाले पूर्वांचल के कामगारों के लिए राहत भरी खबर है। कामगारों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने जनरल स्पेशल एक्सप्रेस चलाने की योजना तैयार की है। इस सप्ताह शुक्रवार या शनिवार को यह ट्रेन चल सकती है। इस ट्रेन में भी आरक्षित कोच ही लगेंगे, लेकिन सभी जनरल (सामान्य) होंगे। यही नहीं दिल्ली रूट की निरस्त सभी ट्रेनों को चलाने की तैयारी की जा रही है। रेलवे ने इसका ब्लू प्रिंंट तैयार कर लिया है।

एक्सप्रेस के बाद लोकल रूटों पर भी चलाई जाएंगी पैसेंजर ट्रेनें

दरअसल, अप्रैल और मई में बढ़ते संक्रमण, पंचायत चुनाव और वैवाहिक कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए घर आए प्रवासी अब वापस जाने लगे हैं। लेकिन लगातार स्पेशल ट्रेन चलने के बाद भी प्रवासियों की संख्या कम नहीं हो रही। ट्रेनों के कंफर्म टिकट नहीं मिल रहे। सबसे अधिक परेशानी जनरल कोचों में यात्रा करने वाले कामगारों को हो रही है।

ट्रेनों में लग रहे सिर्फ आरक्षित कोचों और कंफर्म टिकट पर यात्रा की अनुमति ने उनकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं। उनकी परेशानियों को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने सिर्फ जनरल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। ताकि, अधिक से अधिक प्रवासी यात्रा कर सकें। पहले से चल रहीं गोरखपुर-पनवेल और गोरखपुर-एलटीटी अतिरिक्त स्पेशल ट्रेनों के भी फेरे बढ़ाए जाएंगे।

हमसफर सहित शेष एक्सप्रेस ट्रेनों को भी बोर्ड की हरी झंडी, एक से दो दिन में हो जाएगी घोषणा

दिल्ली रूट पर भी पहले से निरस्त सभी ट्रेनों को चलाने की तैयारी पूरी कर ली गई है। रेलवे बोर्ड ने 02595 हमसफर एक्सप्रेस को भी हरी झंडी दे दी है। एक से दो दिन में इस ट्रेन के संचालन की घोषणा हो जाएगी। इसके अलावा रेलवे प्रशासन पहले निरस्त चल रही 70 फीसद एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने पर जोर दे रहा है। इनमें से 30 ट्रेनों को संचालित करने की घोषणा पहले ही हो चुकी है।

इंटरसिटी सहित कुछ ट्रेनें चलने भी लगी हैं। एक्सप्रेस ट्रेनों के बाद निरस्त पैसेंजर ट्रेनों (सवारी गाड़ी) को भी चलाने की तैयारी शुरू हो गई है। शुरुआत में सभी रूटों पर एक्सप्रेस के रूप में एक-एक ट्रेनें चलाई जाएंगी। यात्रियों की मांग के आधार पर पैसेंजर ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसको लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों के बीच मंथन जारी है।