गोरखपुर [जागरण संवाददाता]। प्रति माह 3.65 लाख रुपये वेतन भत्ता पाने वाले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास अचल संपत्ति नहीं है। उनके पास जो भी संपत्ति है, वह चल है। गोरखपुर शहर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में नामांकन कराते समय उन्होंने 1.55 करोड़ रुपये की चल संपत्ति की घोषणा की। इसमें भी करीब 1.50 करोड़ रुपये विभिन्न बैंक के खातों में जमा, सावधि जमा और डाकघर में बचत पत्र के रूप में हैं। 53 माह में उनकी संपत्ति लगभग 59 लाख रुपये बढ़ी है। वर्ष 2017 में विधान परिषद सदस्य के निर्वाचन के लिए नामांकन करते समय उन्होंने लगभग 96 लाख रुपये की चल संपत्ति की घोषणा की थी। लोकसभा चुनाव 2014 में उनके पास लगभग 72 लाख रुपये की संपत्ति थी।

49 वर्षीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एचएन बहुगुणा विश्वविद्यालय श्रीनगर, पौड़ीगढ़वाल से 1992 में बीएससी किया है। वर्तमान में उनकी कुल संपत्ति एक करोड़ 54 लाख 94 हजार 54 रुपये है। आभूषण के नाम पर 20 ग्राम का स्वर्ण कुंडल और 10 ग्राम सोने की चेन में रुद्राक्ष की माला है। सुरक्षा की दृष्टि से एक रिवाल्वर व एक राइफल भी है। एक स्मार्टफोन भी है। शपथ पत्र के अनुसार क्रय करते समय स्वर्ण कुंडल का मूल्य 49 हजार, रुद्राक्ष माला 20 हजार, स्मार्ट फोन 12 हजार, रिवाल्वर एक लाख और रायफल का मूल्य 80 हजार रुपये था। एमएलसी के लिए नामांकन के दौरान उनपर विभिन्न कोर्ट में चार मामले लंबित थे। वर्तमान में सभी का निस्तारण हो चुका है।

संपत्ति का विवरण

  • एक लाख रुपये नकद।
  • नई दिल्ली के एसबीआइ संसद भवन शाखा में 25 लाख 99 हजार 171 रुपये और आठ लाख 37 हजार 485 रुपये मूल्य की तीन एफडी।
  • पीएनबी इंडस्ट्रियल एरिया गोरखनाथ शाखा में चार लाख 32 हजार 751 और सात लाख 12 हजार 636 रुपये मूल्य की चार एफडी।
  • एसबीआइ गोरखनाथ शाखा में 7908 रुपये।
  • एसबीआइ लखनऊ विधानसभा मार्ग शाखा के खाते में 67 लाख 85 हजार 395 रुपये।
  • नई दिल्ली के संसद मार्ग डाकघर के खाते में 35 लाख 24 हजार 708 रुपये।
  • डाकघर गोरखनाथ मंदिर में दो लाख 33 हजार रुपये के 12 किसान विकास पत्र।

पहले तीन थी, अब एक भी गाड़ी नहीं : लोकसभा चुनाव 2014 में प्रत्याशी के रूप में योगी आदित्यनाथ की घोषणा के अनुसार उनके पास एक पुरानी टाटा सफारी, एक टोयोटा इनोवा व एक टोयोटा फार्च्यूनर थी। 2017 के एमएलसी में नामांकन करते समय इनोवा व फार्च्यूनर थी। वर्तमान में कोई वाहन नहीं है।

Edited By: Umesh Tiwari