गोरखपुर: यह माटी चंदन की तरह है, जिसे माथे से लगाकर और इसी में पसीना बहाकर स्व. ब्रह्मादेव मिश्र, स्व.रामनारायण मिश्र तथा भारत केसरी चंद्रप्रकाश मिश्र उर्फ गामा पहलवान ने क्षेत्र और इस गाव का नाम देश व दुनिया में रोशन किया है।

यह बातें क्षेत्रीय विधायक संत प्रसाद बेल्दार ने कही। वह रुद्रपुर गाव के स्व. ब्रह्मदेव मिश्र, रामनारायण मिश्र, व्यायामशाला में चंद्रप्रकाश मिश्रा उर्फ गामा पहलवान की 17 वीं पुण्यतिथि केअवसर पर आयोजित श्रद्धांजलि कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। इस दौरान विधायक ने कुश्ती को बढ़ावा देने के लिए हर संभव सहयोग और मदद करने का वचन दिया। भाजपा के जिला मंत्री जगदीश चौरसिया ने कहा कि गामा पहलवान के मल्लकला केक्षेत्र में योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। अध्यक्षता कर रहे अखाडे़ के गुरु गिरिवर मिश्र ने कहा कि कठिन परिश्रम, समर्पण और लगन से जीवन में हर मुकाम हासिल किया जा सकता है। इसे गामा पहलवान ने साबित कर दिखाया था। श्रद्धांजलि सभा का संचालन बृज किशोर त्रिपाठी गुलाब ने किया। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि प्रेमशकर मिश्र ने सभी के प्रति आभार जताया। इससे पूर्व सभी ने खजनी चौराहे पर गामा पहलवान की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और व्यायामशाला में स्थापित प्रतिमा पर फूल चढ़ाकर श्रद्धाजलि दी। इस दौरान गणेश शकर मिश्रा, डा.उदय प्रकाश मिश्रा, विनोद शर्मा, केशव मिश्रा, सुरेश सिंह, ठाकुर मिश्रा, श्रीप्रकाश एनके पाडेय, बच्चा दूबे, मारकंडेय पाडेय, दूधनाथ मौर्या, जनार्दन दूबे, भगवान सिंह, रामचंद्र लालजी एवं अखाडे़ के पहलवान वैशाली, शुभम, राजन, संगम, आकाश, राजकमल, पंकज, अमर, अनुज, हर्ष, शशी, शैलेंद्र, विजय प्रमोद, चंदन, अजय, सुदामा आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran