गोरखपुर, जागरण संवाददाता। गोरखपुर नामी सीमेंट कंपनी अल्ट्राटेक के नाम पर नकली सीमेंट बेचने का भंडाफोड़ हुआ है। अल्ट्राटेक कंपनी के अधिकारियों की सतर्कता से मंगलवार को चिलुआताल क्षेत्र में नकली सीमेंट बेचने वाला गैंग पकड़ा गया। गैंग के सदस्यों के पास से एक मैजिक में लदा 60 बोरी नकली सीमेंट बरामद हुआ। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

कंपनी के अधिकारियों ने जाल बिछाकर गैंग को दबोचा

अल्ट्राटेक के अधिकारियों ने बताया कि ने बताया कि कई दुकानदारों ने शिकायत किया कंपनी जिस रेट पर सीमेंट देती है कुछ लोग उससे 50 रुपए प्रति बोरी कम मूल्य पर सीमेंट दे रहे हैं। यह जानकारी मिलते ही कंपनी के अन्य अधिकारी हरकत में आ गए। कंपनी के अधिकारियों ने दुकानदारों से संपर्क किया और नकली सीमेंट बेचने वालों को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई। दुकानदारों से कहा गया कि पचास रुपये प्रति बोरी कम कीमत पर सीमेंट देने वाले लोग सीमेंट लेकर आएं कंपनी के अधिकारियों को तत्काल सूचित करें।

ऐसे पकड़ा गया गैंग

इस बीच मंगलवार को ओम ट्रेडर्स के अल्ट्राटेक कंपनी का सेल्स का काम देखने वाला कर्मचारी पहुंचा तो उसने अपने अधिकारियों को फ़ोन करके बताया की यहां पर नक़ली सीमेंट आया है। इसके बाद अधिकारी व स्थानीय पुलिस दुकान पर पहुंची और कंपनी की टीम के जांच में पाया कि सीमेन्ट फर्जी है। उक्त सीमेंट रवि सीमेन्टस जटाशंकर तिवारीपुर से खरीदकर ओम ट्रेडर्स डोहरिया बाज़ार भेजा जा रहा था। सूचना पर उसे पकड़ कर आवश्यक कार्यवाई की जा रही है।

375 रुपये प्रति बोरी बेची जानी थी सीमेंट

नकली सीमेंट वाली गाड़ी ड्राइवर गोलू व मालिक रोहित कुशवाह ने बताया की 60 बोरा सीमेन्ट रवि सीमेन्ट से खरीदकर डोहरिया बाज़ार ओम ट्रेडर्स पर ले जा रहे थे। इसे 375 रुपये प्रति बोरी बेचना था। जबकि इस कंपनी का सीमेंट 455 रुपये प्रति बोरी है। इसके पहले भी यहां नकली सीमेंट की सप्लाई होती रही है। यह लोग यहां चार बार पहले भी नकली सीमेंट बेंच चुके हैं। कंपनी ने पुलिस को तहरीर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Edited By: Pradeep Srivastava