गोरखपुर, जेएनएन : कोरोना संक्रमण के चलते 10 माह बाद भी रेल पूरी तरह से पटरी पर नहीं आ सकी है। हालांकि 70 फीसद ट्रेनों के संचालन शुरू हो जाने के चलते स्टेशनों की आय जरूर पटरी पर आने लगी है। हालांकि पहले की अपेक्षा आधे से भी कम आय अभी भी रेलवे को हो रही है। रेलवे के जानकारों का मानना है कि त्योहार व लगन आने के बाद ट्रेनें जहां पूरी तरह से पटरी पर आए जाएंगी, वहीं आय में भी तेजी से वृद्धि होगी।

सात से दस लाख रुपये प्रत्येक दिन होती थी आमदनी

देवरिया सदर रेलवे स्टेशन से हर दिन दस हजार से अधिक यात्री यात्रा करते रहे हैं। इस स्टेशन की आय प्रत्येक दिन कोरोना संक्रमण के पहले सात से दस लाख रुपये की बीच में थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते 25 मार्च को ट्रेनें बंद हुईं और कई महीने तक बंद रही। धीरे-धीरे ट्रेनों का संचलन शुरू हुआ तो आय भी पटरी पर आने लगी। लगभग सभी एक्सप्रेस ट्रेनों का संचलन तो शुरू हो गया है, लेकिन इन दिनों आय प्रत्येक दिन तीन से साढ़े तीन लाख रुपये के बीच में ही है।

लोकल ट्रेनों के चलने के बाद बढ़ेगी आय

अभी लोकल ट्रेनों का संचलन नहीं शुरू हुआ है। जानकारों का कहना है कि लोकल ट्रेनों के चलने से काउंटर पर पैसेंजर की भीड़ उमड़ पड़ती है। जबतक लोकल ट्रेनों का संचलन नहीं होगा, तब तक काउंटर पर भीड़ व आमदनी नहीं बढ़ेगी। एक्सप्रेस ट्रेनों का अधिकांश टिकट बुकिंग लोग आनलाइन ही कर रहे हैं। इसलिए काउंटर पर ज्यादा आमदनी नहीं दिख रही है।

स्‍टेशन की आमदनी में हो रहा इजाफा

स्टेशन अधीक्षक आइ. अंसारी ने कहा कि ट्रेनों की संख्या बढ़ने से धीरे-धीरे यात्रियों की संख्या भी बढ़ रही है, जिससे स्टेशन की आमदनी में भी इजाफा हो रहा है। मौसम बदलने के साथ यात्रियों की संख्या में वृद्धि होने की संभावना है।

बरहजिया ट्रेन चलाने की मांग को लेकर सपाइयों ने निकाली पदयात्रा

बरहज ट्रेन चलाने की मांग को लेकर सपाइयों ने सिसई गुलाबराय से बरहज स्टेशन तक पदयात्रा निकाली। आंदोलनकारियों ने 48 घंटे में ट्रेन का संचलन शुरू नहीं होने पर अनिश्चितकालीन धरने की चेतावनी दी। पद यात्रा सिसई गुलाबराय से शुरू होकर बरहज रेलवे स्टेशन पहुंची। इस दौरान सपा नेता विजय रावत ने कहा कि 48 घंटे में ट्रेन संचालन शुरू नहीं हुआ तो समाजवादी पार्टी और क्षेत्रीय जनता के साथ धरना पर बैठेंगे। एक वर्ष से बरहजिया ट्रेन बंद है। विकास यादव, अंकित यादव ने कहा कि ट्रेन नहीं चलने से क्षेत्रीय जनता को दिक्कतें हो रही है। इस दौरान अनिल राजभर, संग्राम सिंह, संजीव पांडेय, विक्रांत तिवारी, शैलेश सिंह, सुरेश प्रजापति, अनिल सिंह, श्याम जायसवाल, कन्हैया पांडेय, विपिन सिंह मौजूद रहे।

Edited By: Rahul Srivastava