गोरखपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गोरखपुर की तस्वीर बदल चुकी है। यह विकास की देन है। अपराध, अराजकता, माफिया के नाम से जाना जाने वाला गोरखपुर आज विकास की नई कहानी लिख रहा है। यह संभव हुआ है केंद्र में और प्रदेश में भाजपा की सरकार की वजह से। डबल इंजन की सरकार के साथ ही महापौर और जिला पंचायत अध्यक्ष भी भाजपा के हुए। इस वजह से विकास ने रफ्तार पकड़ी। आज गोरखपुर को 1822 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात दी जा रही है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को वीर बहादुर सिंह स्पोर्ट्स कॉलेज में चार प्रमुख परियोजनाओं के शिलान्यास कार्यक्रम को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विकास में धन की कमी नहीं होने पाएगी लेकिन गोरखपुरवासी भी विकास के प्रति संवेदनशील बनें। अब तक यहां के नागरिकों ने विकास में कोई बाधा उत्पन्न नहीं की है। इसी वजह से गोरखपुर देश के साथ बेहतर कनेक्टिविटी के साथ जुड़ सका। आज 14 फ्लाइट गोरखपुर से चलती है।

सीएम योगी ने कहा कि सभी प्रमुख मार्ग फोरलेन में तब्दील हो चुके हैं। गोरखपुर- लखनऊ मार्ग और महदीपुर -जंगल कौड़िया मार्ग फोरलेन के बाद अब सिक्स लेन में तब्दील किया जा रहा है। उन्होंने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र प्रदान किया। इस अवसर पर सदर सांसद रवि किशन, महापौर सीताराम जायसवाल, विधायक विपिन सिंह, प्रदीप शुक्ला, महेंद्र पाल सिंह, फतेह बहादुर सिंह, डॉ विमलेश पासवान व विधान परिषद सदस्य डॉ धर्मेंद्र सिंह आदि उपस्थित थे।

इन परियोजनाओं का हुआ शिलान्यास

गोड़धोइया नाला परियोजना : करीब 10 किलोमीटर में फैले इस प्राकृतिक नाले को पक्का बनाया जाएगा। त्वरित आर्थिक विकास योजना के तहत नाले के निर्माण व उसके दोनों ओर सड़क निर्माण के लिए शासन ने 474 करोड़ 42 लाख रुपये स्वीकृत किया है। नाले की प्रारंभिक बिन्दु पर चौड़ाई 10 मीटर जबकि अंतिम बिन्दु यानी रामगढ़ताल के पास 20 मीटर होगी। अमृत योजना के तहत सीवरेज व्यवस्था को भी इससे जोड़ा जाएगा। इसके अतिरिक्त जमीन के मुआवजे के रूप में भी अच्छी-खासी धनराशि खर्च होगी। गोड़धोइया नाला के पक्का बनाए जाने के बाद बड़े क्षेत्र में जल भराव की समस्या से निजात मिल सकेगी और रामगढ़ताल में गंदा पानी नहीं जाएगा।

खजांची फ्लाईओवर : इस फ्लाईओवर का निर्माण 96 करोड़ 50 लाख रुपये की लागत से होगा। खजांची पर लगने वाले जाम से निजात मिल सकेगी। इसका निर्माण कौवाबाग से बरगदवा फोरलेन पर किया जाएगा।

गोरखपुर सीवरेज जोन सी पार्ट टू योजना : रोहिन नदी में गिरने वाले तीन नालों (स्टेपिंग स्टोन नाला, बरगदवा गांव का जालान नाला व महेसरा मोहरीपुर नाला) से संबंधित 21 वार्डों को सीवरेज नेटवर्क से आच्छादित किया जाएगा। इसपर 561 करोड़ 34 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत 188.47 किलोमीटर सीवर लाइन बिछाई जाएगी, 30 एमएलडी का एक सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी) स्थापित किया जाएगा। इससे 43 हजार 963 सीवर गृह संयोजन का लाभ मिलेगा।

भटहट-बांसस्थान मार्ग चौड़ीकरण : भटहट क्षेत्र के पिपरी में प्रदेश का पहला आयुष विश्वविद्यालय स्थापित होने के बाद इस मार्ग पर यातायात बढ़ने की संभावना है। जिसे देखते हुए इस मार्ग को चौड़ा करने का निर्णय लिया गया। करीब 11.61 किलोमीटर लंबी इस सड़क के चौड़ीकरण पर 689 करोड़ 35 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे।

Edited By: Umesh Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट