गोरखपुर, उमेश पाठक। पिछले साल अपनी सीमा का विस्तार करने वाला गोरखपुर विकास प्राधिकरण (जीडीए) इसमें और क्षेत्र जोड़ेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बांसगांव, खजनी, चौरी चौरा, कैंपियरगंज आदि तहसीलों तक जीडीए को सीमा विस्तार करने को कहा है। उन्होंने कहा कि इन क्षेत्रों में नजर रखी जाए कि अनियोजित विकास न होने पाए। नियोजित विकास पर ध्यान दिया जाए। ऐसा होने से गोरखपुर का तेजी से नियोजित विकास होगा। 

पहले ही बढ़ चुकी है जीडीए की सीमा

दो दिवसीय गोरखपुर दौरे पर आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर में अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने विकास कार्य पर चर्चा करते हुए कहा कि जहां भी अनियोजित विकास हो रहा है, उसे रोका जाए। जीडीए के क्षेत्र को और बढ़ाया जाए तथा उस दायरे में आने वाले क्षेत्रों में सुनियोजित तरीके से ढांचागत विकास किया जाए। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद जीडीए जल्द ही सीमा विस्तार को लेकर प्रस्ताव तैयार कर सकता है। पिछले साल किए गए विस्तार के बाद जीडीए का दायरा 642 वर्ग किलोमीटर का हो चुका है। बैठक में मौजूद सीईओ गीडा से मुख्यमंत्री ने निवेश को लेकर जानकारी ली।

लैंड बैंक बढ़ाने पर दिया जोर

उन्होंने लैंड बैंक बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा कि धुरिपायार क्षेत्र में अनुपजाऊ भूमि का अधिग्रहण शुरू किया जाए। गीडा द्वारा इस क्षेत्र की महायोजना तैयार की जा रही है। जल्द ही भूमि का अधिग्रहण भी होगा। यहां करीब 8800 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जाना है। मुख्यमंत्री ने जिले में चल रही विकास योजनाओं के बारे में चर्चा की। उन्होंने कहा कि आयुष विवि, सैनिक स्कूल एवं प्रमुख सड़कों का निर्माण तेजी से किया जाए। काम में लापरवाही नहीं होनी चाहिए। नियमित रूप से इसकी निगरानी की जाए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से इस्लामिया कालेज आफ कामर्स के परिसर में हुए हादसे की भी जानकारी ली। बैठक में एडीजी जोन अखिल कुमार, मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी, जिलाधिकारी कृष्णा करुणेश, एसएसपी गौरव ग्रोवर, नगर आयुक्त अविनाश सिंह, सीईओ गीडा पवन अग्रवाल, जीडीए उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह तंवर, सचिव उदय प्रताप सिंह आदि उपस्थित रहे।

सड़क पर स्थापित न होने पाएं दुर्गा प्रतिमाएं

मुख्यमंत्री ने पुलिस के अधिकारियों से दुर्गा पूजा की तैयारियों को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा कि सड़क पर दुर्गा प्रतिमा स्थापित न की जाए। समितियों के साथ बात कर उन्हें सड़क पर मूर्ति स्थापित न करने के लिए तैयार किया जाए। आवागमन में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। उन्होंने कहा कि आपसी सौहार्द बनाने के लिए लोगों से संवाद किया जाए। सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए जाएं। मुख्यमंत्री ने प्रतिमा विसर्जन की तैयारियां करने को भी कहा। मंडलायुक्त को निर्देश दिया कि सड़कों को दुरुस्त करा लिया जाए। बिजली के तार भी ठीक कर लिए जाएं। तालाबों की सफाई करा ली जाए।

Edited By: Pradeep Srivastava