Move to Jagran APP

Kaiserganj lok sabha Chunav Result 2024: 18वीं लोकसभा के लिए सांसद चुने गए करण भूषण स‍िंह, पिता की संभालेंगे राजनीतिक विरासत

kaiserganj lok sabha election Result करण भूषण सिंह ने पहली बार कैसरगंज में जीत दर्ज की इस सीट से बृजभूषण लगातार तीन बार चुनाव जीत चुके हैं। उनके समर्थक यह बैनर पोस्टर पर भी लिखते हैं कि दबदबा तो है...यह तो भगवान का दिया है। नामांकन की अंतिम तिथि से एक दिन पहले भाजपा ने बृजभूषण की जगह छोटे बेटे करण भूषण सिंह को प्रत्याशी बनाया था।

By Vinay Saxena Edited By: Vinay Saxena Tue, 04 Jun 2024 10:15 AM (IST)
18वीं लोकसभा के लिए चुने गए सांसद, पिता की संभालेंगे राजनीतिक विरासत।

ड‍िजिटल डेस्‍क, नई द‍िल्‍ली। Kaiserganj Lok Sabha Chunav Result 2024: जिस सदन में छह बार पिता व एक बार माता ने जिले का प्रतिनिधित्व किया है, उस सदन में इस बार करण भूषण माता-पिता की राजनीतिक विरासत आगे बढ़ाएंगे। बृजभूषण शरण सिंह के परिवार से वह तीसरे सदस्य हैं, जिन्हें 18वीं लोकसभा के लिए सांसद चुना गया है।

तरबगंज के विश्नोहरपुर में जन्मे बृजभूषण शरण सिंह ने राजनीतिक सफर की शुरुआत अयोध्या में छात्रसंघ के चुनाव से की थी। पहली बार वह 1991 की रामलहर में गोंडा लोकसभा सीट से सांसद चुने गए थे, इस चुनाव में उन्होंने कांग्रेस के सांसद कुंवर आनंद सिंह को एक लाख तीन हजार मतों से चुनाव हराया था। 1996 में बृजभूषण शरण सिंह के जेल में निरुद्ध होने पर उनकी पत्नी केतकी देवी सिंह ने राजनीतिक विरासत संभाली और वह 11वीं लोकसभा के लिए सांसद चुनी गईं।

1999 में वह फिर गोंडा से सांसद चुने गए, इसके बाद उनके जीत का सिलसिला जारी रहा। 2004 में बलरामपुर (अब श्रावस्ती) लोकसभा सीट, 2009, 2014 व 2019 में वह कैसरगंज लोकसभा सीट से सांसद चुने गए। इनसेट बड़ा बेटा विधायक व छोटा बना सांसद - सांसद बृजभूषण शरण सिंह का इकलौता परिवार है जिसमें विधानसभा व लोकसभा में सदस्य हैं।

गोंडा सदर सीट से बूजभूषण शरण सिंह के बड़े बेटे प्रतीक भूषण सिंह गोंडा सदर सीट से भाजपा से विधायक हैं। वहीं, छोटे बेटे करण भूषण सिंह लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बने हैं। इससे पहले 2014 में कुंवर आनंद सिंह गौरा विधानसभा सीट से सपा से विधायक थे और कीर्तिवर्धन सिंह भाजपा से सांसद।

कौन हैं करण सिंह?

करण सिंह बृजभूषण शरण सिंह के छोटे बेटे हैं। उनका जन्म 13 दिसंबर 1990 को हुआ। वह शादीशुदा हैं और उनके एक बेटा और एक बेटी है। वह डबल ट्रैप शूटिंग के नेशनल खिलाड़ी रह चुके हैं। करण भूषण ने गोंडा में अपने पिता के नंदिनी कॉलेज से ग्रेजुएशन किया। ऑस्ट्रेलिया से बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई की। अभी वे उत्तर प्रदेश कुश्‍ती संघ के अध्यक्ष हैं। वह पहली बार कोई चुनाव लड़ रहे हैं।

करण सिंह भारतीय कुश्ती संघ के उपाध्यक्ष रहे, लेकिन पिता के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद करण सिंह ने भी पद छोड़ दिया था। महिला पहलवानों की ओर से बृजभूषण सिंह पर यौन शोषण के आरोप लगाए गए। इसके बीच उत्तर प्रदेश में कुश्ती संघ का चुनाव हुआ था। 12 फरवरी को हुए इस चुनाव में करण को सर्वसम्मति से यूपी कुश्ती संघ का अध्यक्ष चुना गया था।