Move to Jagran APP

Gonda Lok Sabha Chunav Result 2024: गोंडा से पांचवीं बार सांसद बने कीर्तिवर्धन, इतने वोटों से सपा प्रत्याशी को हराया

Gonda Lok Sabha Election Result Live लोकसभा चुनाव में लगातार जीत की हैट ट्रिक लगाकर कीर्तिवर्धन सिंह ने सिर्फ नया रिकार्ड नहीं बनाया है बल्कि पिता के चार बार जीत के कीर्तिमान को भी तोड़ दिया है। वह पांचवीं बार सांसद चुने गए हैं। कीर्तिवर्धन सिंह के पिता आनंद सिंह पहली बार कांग्रेस के टिकट पर 1971 में सांसद चुने गए थे।

By Riya Pandey Edited By: Riya Pandey Tue, 04 Jun 2024 06:33 PM (IST)
गोंडा लोकसभा के चुनावी रण में किसका फहरेगा परचम?

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। Gonda Lok Sabha Chunav Result 2024: लोकसभा चुनाव में लगातार जीत की हैट ट्रिक लगाकर कीर्तिवर्धन सिंह ने सिर्फ नया रिकार्ड नहीं बनाया है, बल्कि पिता के चार बार जीत के कीर्तिमान को भी तोड़ दिया है। वह पांचवीं बार सांसद चुने गए हैं। कीर्तिवर्धन सिंह के पिता आनंद सिंह पहली बार कांग्रेस के टिकट पर 1971 में सांसद चुने गए थे। 

लोकसभा चुनाव 2024 (Lok Sabha Election 2024) में गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok Sabha Seat) से भाजपा ने वर्तमान सांसद कीर्तिवर्धन सिंह (Kirti Vardhan Singh) को एक बार फिर मैदान में उतारा है। सपा से पूर्व मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की पौत्री श्रेया वर्मा (Shreya Verma) चुनाव लड़ रही हैं। बसपा ने सौरभ मिश्र (Saurabh Mishra) पर दांव लगाया है।

यहां 17 चुनावों में आठ बार कांग्रेस, पांच बार भाजपा, दो बार सपा, एक-एक बार कांग्रेस सिंडिकेट व भारतीय लोकदल ने जीत दर्ज की है। कीर्तिवर्धन सिंह ने सपा व भाजपा से दो-दो बार, उनके पिता कुंवर आनंद सिंह ने कांगेस से तीन व कांग्रेस सिंडिकेट से एक बार जीत दर्ज की है। 

गोंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) में 2019 के मुकाबले घटा मतदान प्रतिशत

लोकतंत्र का पर्व मनाने में एक बार फिर गोंडा पिछड़ा गया। पांचवें चरण में गोंडा लोकसभा क्षेत्र में मतदान 20 मई को हुआ था। जिला प्रशासन के अनुसार, गोंडा लोकसभा क्षेत्र में 51.62 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया, जो 2019 के  चुनाव की तुलना में 0.76 प्रतिशत कम है। गोंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) क्षेत्र के लिए सर्वाधिक मतदान मेहनौन विधानसभा क्षेत्र में 55.77 प्रतिशत हुआ। सबसे कम मतदान उतरौला विधानसभा क्षेत्र में सिर्फ 45.34 प्रतिशत हुआ। मतदान में उतार-चढ़ाव से चुनावी गणित बिगड़ गया है। लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। 

गोंडा लोकसभा क्षेत्र में कुल मतदाता -  18.43 लाख 

2024 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में गोंडा सीट पर मतदान- 51.62 प्रतिशत

गाेंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) क्षेत्र में कितना हुआ मतदान

विधानसभा   कुल मतदान  पुरुष  महिला  अन्य
उतरौला 194701 97831 96869 01
मेहनौन  211861 109102  102759  00
गोंडा  182800  101062  86737  01
मनकापुर  181572  94575  86897  00
गौरा  175460  88359  87101  00
योग  951394  490929  460483  02

गोंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) क्षेत्र में हैं भाजपा के पांच विधायक

गोंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) क्षेत्र में बलरामपुर जिले का उतरौला विधानसभा क्षेत्र, गोंडा जिले की गोंडा सदर, मेहनौन, मनकापुर, गौरा विधानसभा क्षेत्र शामिल है। गोंडा सदर से भाजपा के प्रतीक भूषण सिंह, मेहनौन से विनय कुमार द्विवेदी, गौरा से प्रभात कुमार वर्मा, मनकापुर से रमापति शास्त्री व उतरौला से राम प्रताप वर्मा विधायक हैं।

इस बार लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok Sabha Seat) से भाजपा ने सांसद कीर्तिवर्धन सिंह (Kirti Vardhan Singh) को एक बार फिर प्रत्याशी बनाया। वहीं, सपा ने पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की पौत्री श्रेया वर्मा (Shreya Verma) व बसपा ने सौरभ मिश्र (Saurabh Mishra) पर दांव लगाया था। 

कुल आठ प्रत्याशी मैदान में थे

प्रत्याशी दल
कीर्तिवर्धन सिंह  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा)
श्रेया वर्मा  समाजवादी पार्टी (सपा)
सौरभ मिश्र  बहुजन समाज पार्टी (बसपा)
राघवेंद्र  भारतीय शक्ति चेतना पार्टी
विनोद कुमार सिंह  भारत उदय निर्माण पार्टी
अरुणिमा पांडेय  निर्दल
राजकुमार निर्दल
राम उजागर निर्दल

जाति, धर्म व विकास पर वोट

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) में इस बार किसी भी पार्टी की एक पक्षीय लहर देखने को नहीं मिली। लहर में इस बार वोट बहता नहीं दिखा बल्कि मतदाताओं ने जाति, धर्म व विकास के पर वोट की चोट की। गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok sabha Seat) पर भाजपा व सपा के समीकरण कहीं अच्छे तो कहीं खराब दिखे। 

चुनाव में गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok Sabha Seat) से भाजपा व सपा के बीच कांटे की टक्कर दिखी। राजनीतिक जानकारों का कहना है कि मुस्लिम व कुर्मी वोट जहां सपा की तरफ गया है तो वहीं यादव के साथ ही अन्य पिछड़ा वर्ग ने भाजपा (BJP) की तरफ रुख किया है। भाजपा को कोर वोट सवर्ण पहले से ही मजबूत है। बसपा (BSP) ने कैडर व ब्राह्मण वोट के सहारे मुकाबले में आने की कोशिश की है। सबने अपने-अपने हिसाब से वोट कर दिया। 

सपा प्रत्याशी ने की थी 29 बूथों पर की थी पुनर्मतदान की मांग

गोंडा लोकसभा (Gonda Lok Sabha) क्षेत्र से सपा प्रत्याशी श्रेया वर्मा (Shreya Verma) ने रिटर्निंग ऑफिसर से 29 बूथों पर पुनर्मतदान कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोगों ने बूथ कैप्चरिंग की है। वहीं, जिला निर्वाचन अधिकारी नेहा शर्मा ने आरोपों का खंडन किया है। अधिकारी के मुताबिक, प्रत्याशी के द्वारा शिकायती पत्र में अवगत कराए गए सभी बूथों की तत्काल जांच कराई गई, जांच में शिकायत निराधार पाई गई। 

गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok Sabha Seat) पर 17 बार हो चुके हैं चुनाव

गोंडा लोकसभा सीट पर अबतक 17 चुनाव हो चुके हैं, सबसे ज्यादा बार इस सीट से चुने जाने का रिकॉर्ड आनंद सिंह व उनके बेटे कीर्तिवर्धन सिंह (Kirti Vardhan Singh) के नाम दर्ज है। दोनों चार-चार बार लोकसभा में क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। इस बार कीर्तिवर्धन सिंह के सामने पिता का रिकॉर्ड तोड़ने का मौका है। वहीं, बृजभूषण शरण सिंह ने इस सीट से दो बार जीत दर्ज की है। जबकि, एक बार उनकी पत्नी केतकी देवी सिंह सांसद चुनी गई हैं।

गोंडा लोकसभा सीट (Gonda Lok Sabha Seat) का इतिहास

गोंडा लोकसभा सीट का गठन 1952 में हुआ था। तब इसे गोंडा उत्‍तर सीट नाम से जाना जाता था। चौधरी हैदर हुसैन यहां के पहले सांसद थे। वर्तमान सांसद कीर्ति वर्धन सिंह (Kirti Vardhan Singh), भाजपा से हैं । यहां पृथ्‍वी नाथ मंदिर, श्री स्‍वामीनारायण मंदिर देखने योग्‍य है। 1821 गांव वाले गोंडा में 17 पुलिस स्‍टेशन और 16 ब्‍लॉक और 4 तहसील हैं। यहां शुगर मिल बहुतायत में हैं। भारत की बड़ी शुगर मिलों में से एक कुंदरखी में मौजूद है। यहां अवधी बोली लोग बोलते हैं। गोंडा में उतरौला, गौरा, गोंडा, मनकापुर, महनून विधानसभाएं हैं।

गोंडा लोकसभा सीट से अब तक चुने गए सांसद

वर्ष सांसद दल
1957 दिनेश प्रताप सिंह कांग्रेस
1962 राम रतन गुप्ता कांग्रेस
1964 नारायण दांडेकर स्वंतत्र पार्टी
1967 सुचेता कृपलानी कांग्रेस
1971 आनंद सिंह कांग्रेस
1977 सत्यदेव सिंह जनता पार्टी
1980 आनंद सिंह कांग्रेस
1984 आनंद सिंह कांग्रेस
1989 आनंद सिंह कांग्रेस
1991 बृजभूषण शरण सिंह भाजपा
1996 केतकी देवी सिंह भाजपा
1998 कीर्तिवर्धन सिंह सपा
1999 बृजभूषण शरण सिंह भाजपा
2004 कीर्तिवर्धन सिंह सपा
2009 बेनी प्रसाद वर्मा कांग्रेस
2014 कीर्तिवर्धन सिंह भाजपा
2019 कीर्तिवर्धन सिंह भाजपा