Move to Jagran APP

'चुनाव हराने वालों की हो जाती थी हत्या', भाजपा के लिए प्रचार कर रहे धनंजय सिंह ने क्यों कही ये बात?

भाजपा लोकसभा बलिया के प्रत्याशी नीरज शेखर के समर्थन में जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने नगर में मतदाताओं से संपर्क व नुक्कड़ सभा के माध्यम से मतदान करने का आह्वान किया। धनंजय सिंह ने अकटहिया में आयोजित बैठक में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते कहा कि एक समय ऐसा था कि वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में यहां जमकर खून खराबा हुआ और गोलियां चली।

By Gopal Singh Yadav Edited By: Abhishek Pandey Thu, 30 May 2024 08:55 AM (IST)
चुनाव हराने वालों की हो जाती थी हत्या : धनंजय सिंह

संवाद सूत्र, मुहम्मदाबाद (गाजीपुर)। भाजपा लोकसभा बलिया के प्रत्याशी नीरज शेखर के समर्थन में जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने नगर में मतदाताओं से संपर्क व नुक्कड़ सभा के माध्यम से मतदान करने का आह्वान किया।

धनंजय सिंह ने अकटहिया में आयोजित बैठक में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते कहा कि एक समय ऐसा था कि वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में यहां जमकर खून खराबा हुआ और गोलियां चली। उस चुनाव में कई लोगों को गोलियां लगी और कई लोगों की जान गई, लेकिन आपकी मेहनत और संघर्ष का परिणाम रहा कि वर्ष 2014 में आपने भाजपा का सांसद चुना और केंद्र में मोदी जी की सरकार बनी और धीरे-धीरे यह सरकार अत्याचार के खिलाफ लड़ते-लड़ते आज यहां से अत्याचार और दुराचार को समाप्त किया।

कहा कि आप समाज के हित के लिए अपने संघर्ष को बनाए रखिए। लोकतंत्र में चुनाव लड़ना जीतना और हारना एक प्रक्रिया है। लोकतंत्र में इसलिए किसी की हत्या कर दी जाए कि वह चुनाव जीत गया।

धनंजय सिंह ने कहा कि हम लोग भी चुनाव लड़ते हैं, जीतते हैं, हारते हैं लेकिन एक दूसरे से मिलकर बधाई भी देते हैं। यही एक स्वस्थ लोकतंत्र की परिकल्पना है।

उन्होंने कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि आप पूरे मनोयोग से जुट जाएं और इस चुनाव में भाजपा के प्रत्याशी नीरज शेखर को भारी अंतर से जीत दर्ज कराकर संसद में भेजने का कार्य करें, ताकि इस इलाके का विकास हो सके और माफियाओं का समूल नष्ट हो। पीयूष राय, दीपू गुप्ता, ओपी गिरि, चंदन राय, अनूप शर्मा, सत्येंद्र राम, शिवशंकर बिंद, सुरजीत पांडेय, अमित चौरसिया आदि रहे।

इसे भी पढ़ें: डिफेंस सेक्टर के 1.20 लाख कर्मियों को मिलेगा 50 प्रतिशत महंगाई भत्ता, इस महीने से होगा एरियर भुगतान