Move to Jagran APP

Ghazipur Lok Sabha Election Result: गाजीपुर से भाजपा को बड़ा झटका, मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल ने दर्ज की जीत

Ghazipur Lok Sabha Election Result हॉट सीट गाजीपुर से आइएनडीआइए गठबंधन के सपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) ने 124266 वोटों से जीत दर्ज कर ली है। भाजपा प्रत्याशी पारस नाथ राय को हार का सामना करना पड़ा। वह 11 वीं बार चुनाव मैदान में रहे हैं। अब तक पांच बार विधायक व तीसरी बार संसद पहुंचने जा रहे हैं।

By Jagran News Edited By: Abhishek Pandey Tue, 04 Jun 2024 05:22 PM (IST)
Ghazipur Lok Sabha Election Result: गाजीपुर से भाजपा को बड़ा झटका, मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल ने दर्ज की जीत
गाजीपुर से भाजपा को बड़ा झटका, मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल ने दर्ज की जीत

जागरण संवाददाता, गाजीपुर। (Ghazipur Lok Sabha Election Result) हॉट सीट गाजीपुर से आइएनडीआइए गठबंधन के सपा प्रत्याशी अफजाल अंसारी (Afzal Ansari) ने 124266 वोटों से जीत दर्ज कर ली है। भाजपा प्रत्याशी पारस नाथ राय को हार का सामना करना पड़ा। वह 11 वीं बार चुनाव मैदान में रहे हैं। अब तक पांच बार विधायक व तीसरी बार संसद पहुंचने जा रहे हैं। इस चुनाव में प्रदेश सरकार से माफिया स्व. मुख्तार अंसारी के खिलाफ बुलडोजर बाबा की कार्रवाई जनपद के मतदाताओं को रास नहीं आयी और न ही विकास व केंद्र सरकार की योजनाएं ही काम आयीं।

आइएनडीआइए का संविधान खतरे का मुद्दा जीत में काफी मददगार रहा। वह 40 वर्ष में लगातार दूसरी बार सांसद बनने वाले तीसरे नेता हैं। संसदीय सीट पर 20,74883 मतदाताओं में से 11,51145 मतदाताओं ने (55.48 प्रतिशत) मतदान किया था।

मंडी समिति जंगीपुर परिसर में मंगलवार को सुबह आठ बजे से शुरू मतगणना 33 राउंड में पूरी हुई। सभी पांचों विधानसभा के 14-14 टेबल बनाए गए थे। 24 राउंड की मतगणना में सपा के अफजाल अंसारी 4,49141, भाजपा के पारस नाथ राय 3,41 931 व बसपा के डा. उमेश कुमार सिंह 1,37 305 वोट मिले थे। सिर्फ पहली बार भाजपा प्रत्याशी 328 वोटों से आगे हुए। इसके बाद अफजाल अंसारी ने बढ़त ली तो अंत तक जारी रखी।

अफजाल अंसारी के पिछले 2019 के चुनाव में मनोज सिन्हा से 1,19 392 वोटों से जीत के आंकड़े को भी पार होने की उम्मीद है। इतनी बड़ी जीत के पीछे आइएनडीआइए का संविधान खतरे का मुद्दा अनुसूचित जाति व ओबीसी को पंच कर गया। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन सभाएं की और उनके निशाने पर माफिया का परिवार रहा। बावजूद इसके भाजपा प्रत्याशी की हार हुई है। बसपा प्रत्याशी पर भी पार्टी के आधार वोट बैंक ने भरोसा नहीं किया। यही वजह है कि बसपा प्रत्याशी का अधिकांश वोट सपा पर चढ़ गया।

इसे भी पढ़ें: Aligarh Lok Sabha Result 2024: अलीगढ़ में रोचक हुआ मुकाबला, सपा-भाजपा में कांटे की टक्कर; रुझानों में किसे बढ़त?