जागरण संवाददाता, खानपुर(गाजीपुर): क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में सरकारी राशन दुकान से मुफ्त का राशन उठा रहे अपात्र लोगों की छंटनी का कार्य अंतिम चरण में है। शासन से अपात्र लोगों के राशनकार्ड जमा न किए जाने पर दंडात्मक कार्यवाही और वसूली की सूचना मिलते ही सभी अपात्र लोग स्वेच्छा से अपना राशनकार्ड जमा करा रहे हैं।

सैदपुर ब्लाक के ग्रामीण इलाकों से अब तक 185 लोग और नगर से छह लोगों ने अपने राशनकार्ड जमा करा दिए हैं। अपात्रों के राशन कार्ड सरेंडर करने पर बड़ी संख्या में जरूरतमंद पात्र लोगों को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। इससे रिक्शा- ट्राली चालक, कुष्ठ रोगी, कैंसर रोगी, एड्स पीड़ित, घरेलू कामकाजी, मोची, फेरी लगाने वाले, माता-पिता विहीन बच्चों, गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले, परित्यक्त महिलाएं, मुखिया विहीन परिवार, निराश्रित, स्वच्छकार, दैनिक वेतनभोगी, मजदूर, पल्लेदार और आवास विहीन आदि को लाभ मिलेगा। पूर्ति निरीक्षक सैदपुर परवेज असलम ने बताया कि किसी भी गांव में आबादी के अनुसार 79.56 प्रतिशत लोगों का ही राशनकार्ड बनाया जा सकता है। सभी अपात्र लोगों के निकल जाने से राशनकार्ड की सूची में सभी जरूरतमंद लोग समाहित हो जाएंगे।

Edited By: Jagran