नई दिल्ली/गाजियाबाद। उत्तर प्रदेश अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2019 (Uttar Pradesh Subordinate Services Selection Commission-2019) का आयोजन होने के चलते मेरठ रोड पर रूट डायवर्जन रहेगा। ऐसे में वाहन चालकों इस पर यात्रा से बचे। गौरतलब है कि परीक्षा का आयोजन 30 सितंबर और एक अक्तूबर को मेरठ रोड के विभिन्न कॉलेजों में होगा।

इससे सबक लेते हुए और अभ्यर्थियों की संख्या को देखते हुए यूपी पुलिस ने मेरठ रोड से भारी वाहनों का रूट डायवर्जन किया है।

गाजियाबाद के एसपी ट्रैफिक एसएन सिंह के मुताबिक, अगले दो दिन (30 सितंबर और 1 अक्टूबर) तक गाजियाबाद में अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा होगी। किसी तरह की परेशानी से बचने और असावधानी के मद्देनजर भारी मालवाहक वाहनों का डायवर्जन सुबह 7 से 10 एवं दोपहर 12 से 3 बजे तक कर दिया गया है। 

यह रूट अपनाएं

वाहन चालकों से अपील की गई है कि भारी वाहन जिन्हें गाजियाबाद से मेरठ जाना है, वह एएलटी से वाया हापुड़ चुंगी, डासना पिलखुवा होते हुए अपने गंतव्य को जा सकेंगे। भारी वाहन जिन्हें मेरठ से गाजियाबाद आना है, वह मोदीनगर से भोजपुर हापुड़ होकर आ सकेंगे। समस्या से बचने के लिए वैकल्पिक मार्गों का प्रयोग कर सकते हैं। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि सभी को यातायात नियमों का पालन करना है।

यहां पर बता दें कि दिल्ली से मेरठ जाने के दौरान कई जगहों पर जाम लगता है। ऐसे में अभ्यर्थियों को परेशानी आ सकती है। वहीं, कुछ अभ्यर्थियों की मानें तो इस डायवर्जन के चलते जाहिर है हमें लाभ मिलेगा, क्योंकि जाम की वजह से कई बार परीक्षा छूट जाती है, वहीं टेंशन भी रहती है।

रोजाना 2 लाख वाहन गुजरते हैं मेरठ रोड से

गौरतलब है कि दोनों शहरों गाजियाबाद और मेरठ गाजियाबाद को जोड़ने वाली करीब 36 किलोमीटर लंबी चार लेन की मेरठ काफी व्यस्त रहती है। दिल्ली, मेरठ, गाजियाबाद और हरिद्वार (उत्तराखंड) शहर के लोग रोजाना मेरठ रोड के जरिये ही सफर करते हैं। जाहिर इसके चलते मेरठ रोड पर वाहनों का काफी दवाब भी रहता है। एक अनुमान के मुताबिक, 24 घंटे के दौरान तकरीबन 2 लाख वाहन रोजाना मेरठ रोड से गुजरते हैं।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप