गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। एटीएस, एनआईए की टीम ने मोदीनगर थाने की पुलिस के साथ मंगलवार तड़के कलछीना गांव में फिर छापेमारी की। इस दौरान 12 लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। सभी को फिलहाल मोदीनगर थाने पर रखा गया है। उनसे पूछताछ चल रही है। हिरासत में लिए गए। 12 लोगों में से एक यूट्यूबर हसन अली भी है।

यूट्यूब पर डाली गई वीडियो की हो रही जांच

वह कलछीना टाइम्स के नाम से अपना एक समाचार पत्र भी निकालता है। एटीएस व एनआईए की टीम हसन अली के समाचार पत्र और यूट्यूब पर डाली गई वीडियो की छानबीन कर रही है। हसन अली के साथ साथ हिरासत में लिए गए सभी लोगों से उनके बैंक खातों की डिटेल व उनकी आर्थिक स्थिति की भी अधिकारी जानकारी जुटा रहे हैं।

NIA व ATS को फंडिंग का मिला इनपुट

एनआईए व एटीएस की टीम को इनपुट मिला है कि इन सभी लोगों को फंडिंग हो रही थी। यह लोग धर्म विशेष के खिलाफ माहौल बनाने और संगठन को मजबूत करके कोई बड़ी साजिश रचने वाले थे। सभी से अलग अलग करके पूछताछ हो रही है। हालांकि, फिलहाल इस मामले पर कोई भी अधिकारी कुछ भी बोलने से बच रहा है।

PFI पर NIA का एक्शन, दिल्ली-यूपी समेत 8 राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी; शाहीन बाग में धारा 144 लागू

ध्यान रहे कि पिछले सप्ताह भी एटीएस की टीम व पुलिस ने कलछीना में छापेमारी की थी। वह पीएफआई के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सरगना परवेज को गिरफ्तार करने के लिए आई थी। इस दौरान भीड़ एकत्र हो गई और हंगामे की स्थिति के बीच परवेज मौका पाकर फरार हो गया।

खास बात यह है कि इस बार भोजपुर पुलिस को इस पूरे मामले से अलग रखा गया है। जबकि, कलछीना गांव भोजपुर थाने के अंतर्गत आता है। अधिकारियों को इनपुट मिला है कि परवेज को छापेमारी की पूर्व सूचना मिल गई थी। इसमें भोजपुर थाने के किसी पुलिसकर्मी की भूमिका है। विभागीय स्तर पर भी इसकी जांच शुरू कर दी गई है।

AAP नेताओं को दिल्ली हाई कोर्ट से बड़ा झटका, कहा- एलजी वीके सक्सेना के खिलाफ अमर्यादित पोस्ट हटाएं

परवेज को भगाने में गांव के जिन लोगों का सहयोग रहा है। इस बार एनआईए व एटीएस की टीम ने उनको भी टारगेट किया है। इस बारे में सीओ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि अभी परवेज का कोई पता नहीं चला है। उसकी तलाश में एनआईए, एटीएस के साथ-साथ पुलिस भी दबिश दे रही है।

फिलहाल जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। पूछताछ के बाद ही सही स्थिति सामने आएगी। पिछले सप्ताह दी गई दबिश में एनआईए की टीम शामिल नहीं थी।

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट